आत्महत्या महंत
  • अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत, सुसाइड नोट में शिष्य का लिखा नाम

  • अखाड़ा परिषद के महंत नरेंद्र गिरि की फांसी के फंदे से झूलती मिली लाश- शिष्य पर प्रताड़ित कराने का आरोप

प्रयागराज के बाघम्बरी मठ मैं महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध परिस्थितियों में नायलॉन की रस्सी के सहारे फांसी के फंदे पर झूलती मिली लाश.आपको बता दें की आज प्रयागराज में उस वक्त हड़कंप मच गया जब महंत नरेंद्र गिरि की आत्महत्या की खबर लोगों को मिली.

कानपुर: विधायक इरफान सोलंकी का पुलिसकर्मियों से गुंडई करते वीडियो वायरल-देखे

अखाड़ा महंत
वही बताया गया है कि महंत नरेंद्र गिरि की लाश के पास से एक सुसाइड नोट भी बरामद हुआ है। जिसमें उन्होंने अपने शिष्य आनंद गिरि के ऊपर आत्महत्या के लिए उकसाने और प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है।
अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के बाद पुलिस को 6 से 7 पन्नों का कमरे में ही सुसाइड नोट मिला है। जिसमें उन्होंने अपने शिष्य आनंद गिरि का नाम लिखा है। यही नहीं बताया जा रहा है कि वसीयतनामा की तरह सुसाइड नोट को लिखा गया है।
हरिद्वार पुलिस ने बताया गया है कि उनके शिष्य आनंद गिरि को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ की जा रही है। यही नहीं इस पूरे मामले पर पुलिस के आला अधिकारी तहकीकात में जुट गए हैं।
अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि के आत्महत्या मामले पर उनके शिष्य आनंद गिरि ने कहा कि यह हत्या है और उनको फसाने की कोशिश की जा रही है।
आनंद गिरि
शिष्य आनंद गिरी

वहीं दूसरी तरफ पुलिस को मिले सुसाइड नोट में आनंद गिरी के अलावा दो अन्य नाम भी लिखे हुए हैं। जिसमें आधा तिवारी और  संदीप तिवारी का भी नाम है।

आपको बताते चलें कि महंत नरेंद्र गिरी और उनके शिष्य आनंद गिरि के बीच में पहले भी विवाद हो चुका था। जिसमें उनके शिष्य उनसे पैर छूते हुए माफी मांगी थी।

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *