रामपुर मंदिर निर्माण की खुशी को लेकर उत्सव मना रहा देश जगह-जगह जलाए गए दीप

कल अयोध्या में राम मंदिर के लिए होने वाले भूमि पूजन के लिए देश के लोगों में हर्षोल्लास का माहौल है तो वही रामपुर में भी लोगों ने अपने-अपने घरों पर दीप जलाकर अपनी खुशी का इजहार किया रामपुर मे मन्दिर निर्माण की खुशी को लेकर उत्सव मना रहा देश जगह-जगह जलाए गए दीप।राम मंदिर भूमि पूजन को लेकर देश की पवित्र नदियों और पवित्र स्थानों की मिट्टी अयोध्या पहुँच रही है तो वही देश के कोने-कोने में भक्त इस अद्भुत दृश्य को देखने का सपना लेकर कोरोना महामारी के कारण अपने घर पर रहकर ही इस अद्भुत नजारे को परिवार के साथ ही घर पर सेलिब्रेट कर रहे है और भगवान राम की आराधना कर रहे है।

अयोध्या बापस आए थे 14 बर्ष का वनबास के बाद तो अयोध्या में एक दिन पहले से खुशियां मनानी।

वही इस मौके पर प्रान्त संयोजिका प्रतिक्षा काम्बोज ने बताया के भारत मे बड़े हर्षोल्लास के विषय है कि आज हमारे रामलला मन्दिर जो अयोध्या में जो उनकी जन्म भूमि है उसमें वह आसन विराजमान करेंगे और बर्षो से आ रहा इन्तेजार अब हमारा समाप्त हुआ है इस विषय में भी हम भारत प्रान्त जिले स्तर के ब्यक्ति दायित्ववान कार्यकर्ता बड़ी खुशी और बड़े अनेकों तरह से खुशी का आनंद ले रहे है। आज का दिन हमारे लिए छोटी दीवाली के रुप में हम इस अवसर को मना रहे है जिस तरीके से रमलला जब अयोध्या बापस आए थे 14 बर्ष का वनबास के बाद तो अयोध्या में एक दिन पहले से खुशियां मनानी इस्टार्ट कर दी थी अयोध्या बासियों ने उसी प्रकार से आज हमारे देश के दायित्ववान कार्यकर्ता हिन्दू भाई उस छोटी दीवाली के रुप में आज के दिन को मना रहे है। आज हमारी यह तीसरी दीपावली है पहली दीपावली जब 370 में जब जम्मू से लेकर कन्या कुमारी तक लोगों में बड़ी खुशी का विषय था उस टाइम मनाई गई थी अब यह दूसरी दीपावली जब कोरोना वायरस के के चलते उस समय जब लॉक डाउन चल रहा था उस समय जब नरेन्द्र मोदी का आवाहन हुआ था तब लोगों ने ताली थाली और अनेकों तरीके से मतलब लोगों ने एक तो मोदी जी का मान मोदी जी की एक बात के ऊपर लोगों ने थाली ताली दीपक जलाके देश को बहुत अच्छी तरीके से जगमग कर दिया था उसी प्रकार आज तीसरी दीपावली है आज जब रामलला अपने आसन पर विराजमान होंगे मोदी जी उस भूमि पूजन अयोध्या पहुचेंगे उसी अवसर पर हम तीसरी दीवाली के रुप में मना रहे है।

संतों की इच्छा थी वह आज पूरी हुई है जो हमारे कारसेवकों ने बलिदान दिया था निश्चित रूप से आज उनकी आत्मा प्रसन्न होगी।

वही इस मामले में विश्व हिंदू परिषद के जिला उपाध्यक्ष राधेश्याम कांबोज जी ने बताया मैं आज बड़े उत्साह के साथ यह कहना चाहता हूं की राम जन्म भूमि पर आज जो दिव्य और भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है भूमि पूजन का इससे पूरे देश में ही नहीं बल्कि पूरे विश्व में उत्साह का वातावरण है और इस कार्यक्रम को हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री कल भूमि पूजन के लिए पधार रहे हैं इसी में पूरे देश में एक अलौकिक दीपावली का वातावरण है और बड़े ही उत्साह के साथ एक नई ऊर्जा के साथ सभी कार्यकर्ताओं में जोश भर रहा है कि हमारे अनेकों महापुरुषों और संतों की इच्छा थी वह आज पूरी हुई है जो हमारे कारसेवकों ने बलिदान दिया था निश्चित रूप से आज उनकी आत्मा प्रसन्न होगी कि हमारा जो बलिदान था सार्थक हुआ। यह परंपरा है हमारे समाज की जब भी कोई शुभ मुहूर्त होती है तो हम उसे दीपावली मानते हैं जिस तरह से भगवान राम जब 14 वर्षों का वनवास पूरा करके अयोध्या लौटे थे तो जो उत्साह था उससे भी अधिक उत्साह आज पूरे जनमानस में है और उसी उत्साह के रूप में और उसी दीपावली के रूप में हम लोग सब घी के दिए जला रहे हैं। और एक सुंदर दीपावली के रूप में पर्व के रूप में मना रहे हैं। इस साल तीसरी दीपावली मनाई जा रही है परंपरा है कि जब भी कोई शुभ काम होता है हमारा जो उसमें उत्साह बढ़ जाता है जिस तरह से हमारे देश के प्रधानमंत्री जी ने भारत में हमारे कश्मीर में धारा 370 समाप्त की थी वह भी हमारे देश के ऊपर कलंक था उसको उन्होंने समाप्त कर दिया कश्मीर की धारा 370 जिस तरीके से कह रहे थे कि वहां खून की नदियां बहंगी कुछ भी तिलमास भी कुछ नहीं हुआ उस खुशी में भी हम लोगों ने दीपावली मनाई और इसके अलावा जिस तरीके से कोरोनावायरस पूरे विश्व में फैल रहा था हमारे देश को भी उसने आगोश में ले लिया था तो प्रधानमंत्री जी ने यह का आवाहन किया था आत्मनिर्भर भारत आत्मनिर्भर भारत को लेकर के प्रधानमंत्री जी ने जो लोगों में उत्साह भरा उसको लेकर भी लोगों में एकजुटता और उससे मुकाबला करने की सब लोग एकजुट खड़े हुए और हमने उसे भी दीपावली के रूप में ताली और थाली और दीपक जलाकर के उसको मनाया और आज हम श्री रामभूमि पर दिव्य भव्य कार्यक्रम का आयोजन होने जा रहा है हमारे यशस्वी प्रधानमंत्री कल भूमि का पूजन करने जा रहे हैं उसी को ले करके जो राम भक्तों में उत्साह है एक कलंक इस भारत में जो राम जन्मभूमि और बाबरी मस्जिद का जो कलंक था उसे मिटाया गया था उसको लेकर के जो सदियों से चली आ रही लड़ाई हमारे सुप्रीम कोर्ट में समाप्त हुई और आज विजय प्राप्त हुई हमारे रामलला पुने अपने स्थान पर भव्य और दिव्य रूप से विराजमान होंगे निश्चित रूप से यह बहुत ही गौरव की बात है बहुत अच्छी बात है पूरा विश्व हमारे रामलला के दर्शन कर सकता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *