Ivermectin टेबलेट कोरोना से बचाव और उपचार में कारगर-अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने जारी किया GO

उत्तर प्रदेश सरकार ने कोविड-19 के इलाज को लेकर एक महत्वपूर्ण जीओ जारी किया है जिसमें कहा गया है कि Ivermectin Tab  टेबलेट कोरोना से लड़ने में कारगर दवा साबित हो रही है। आपको बता दें कि आज एक बैठक के बाद अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने एक जियो जारी किया है।

कोविड इलाज़ पर UP सरकार ने महत्वपूर्ण GO जारी किया ।

जियो में सभी सीएमओ और सीएमएस को  Ivermectin Tab  टेबलेट  इस्तेमाल करने को कहा गया है। बताया जा रहा है कि 10 विशेषज्ञ चिकित्सकों की समिति ने इस Ivermectin Tab  टेबलेट  के इस्तेमाल को हरी झंडी दी है। बताया जा रहा है कि यह Ivermectin Tab  टेबलेट  कोरोना वायरस से लड़ने में काफी मददगार साबित हो रही है।जिसको देखते हुए इस टैबलेट को कोरोना वायरस के मरीजों को इस्तेमाल करने के लिए कहा गया है।

“Ivermectin टेबलेट” को कोरोना में बताया गया कारगर दवा ।

साथ ही गर्भवती महिलाओं को लीवर Ivermectin Tab  टेबलेट नहीं देना होगा यह भी बताया गया है। आपको बताते चलें Ivermectin Tab  टेबलेट के उपयोग की भूमिका के संबंध में चिकित्सकों द्वारा एक बैठक की गई थी। इस बैठक में प्रारंभ में निदेशक संचारी रोग द्वारा सभी प्रतिभागियों के स्वागत उपरांत  वर्तमान में कोरोना वायरस प्रदेश में अति तीव्र गति से पैर पसार रही है। वह इसके रोकथाम एवं उपचार हेतु विभिन्न दिशा निर्देश व पद्धतियों के अनुरूप कार्य किया जा रहा है।
जीओ

GO में सभी सीएमओ और सीएमएस को “Ivermectin टेबलेट” इस्तेमाल करने के लिए कहा गया ।

इसी संबंध में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव एवं उपचार में Ivermectin Tab  टेबलेट की सहयोगी भूमिका के संबंध में उक्त बैठक की गई थी। बैठक में विशेषक के रूप में डॉ सूर्यकांत प्रोफेसर एवं विभागाध्यक्ष मेडिसिन केजीएमयू के माध्यम से कोविड-19 की भयावहता के संबंध में अवगत कराते हुए बताया कि वर्तमान में 213 देशों में कोविड-19 के प्रसार से संक्रमित डेढ़ करोड़ से अधिक लोगों एवं उसके कारण हुई लाखों मौतों के कारण स्थिति भयानक बनी है। वर्तमान में देश में कोविड-19 संक्रमण के 18 लाख से अधिक मामले तथा लगभग 39000 मौतें होने से अब भारत का विश्व में कोरोना वायरस में तीसरा स्थान हो गया है। उनके द्वारा अवगत कराया गया कि Ivermectin Tab  टेबलेट  की खोज 1970 के दशक में जापानी वैज्ञानिक सतोशी ओमुरा द्वारा की गई थी। यह औषधि वायरस प्रोटीन के कोशिका के केंद्र के अंदर जाने की प्रक्रिया को रूकती है।

गर्भवती महिलाओं को “Ivermectin टेबलेट” नहीं देना होगा ।

जिसके कारण वायरस के कारण एप्लीकेशन की प्रक्रिया बाधित होती है। वर्तमान महामारी में Ivermectin Tab  टेबलेट के इस गुण के कारण औषधि शोध का प्रमुख विषय है। तथा विभिन्न शोध पत्रिकाओं में इससे संबंधित शोध पत्र प्रमुखता से प्रकाशित किए गए हैं। वह किए जा रहे हैं डॉक्टर सुल्तान द्वारा विभिन्न शोध पत्रों के निष्कर्षों एवं शहर से प्रतिभागियों को अवगत कराया गया। दक्षिण अमेरिका के डोमिनिकन रिपब्लिक देश में इस औषधि के प्रयोग के संबंध में किए गए शोध में Ivermectin Tab  टेबलेट के प्रयोग से मृत्यु दर तथा संक्रमण काल में कमी प्रदर्शित हुई है।इसी प्रकार पेरू देश में हुए शोध अध्ययन में Ivermectin Tab  टेबलेट के प्रयोग से रोग के रोकथाम एवं उपचार में सफलता पाई गई है।

“Ivermectin टेबलेट” इस्तेमाल की हरी झंडी दी ।

इसी तरह का शोध बांग्लादेश में भी हुआ जिसके परिणाम उत्साहवर्धक आए है। इसी से संबंधित कई शोध अपने देश में भी किए जा रहे हैं जिसमें एम्स दिल्ली लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज आरडी गार्डी मेडिकल कॉलेज उज्जैन मैक्स हॉस्पिटल नई दिल्ली के शोध प्रमुख है। यह औषधि कोरोना वायरस से लड़ने मे की जा सकती है तथा इसके उत्साहवर्धक परिणाम सामने आए हैं। वर्तमान मे यह औषधि कोरोना वायरस रोकथाम एवं बचाव दोनों में प्रयोग की जा सकती है। तथा इसके उत्साहवर्धक परिणाम सामने आए हैं।  कोविड-19 से संक्रमण के बचाव एवं उपचार हेतु एवं Ivermectin Tab  टेबलेट का प्रयोग किया जाना उचित है। इसी के संबंध में आज उत्तर प्रदेश सरकार में जीओ जारी करते हुए Ivermectin Tab  टेबलेट का प्रयोग करने की इजाजत दी है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *