केरल प्लेन हादसा-पाइलेट को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई-सोशल डिस्टेंसिंग का रखा ख्याल

मथुरा-गमगीन माहौल में नम आंखों से दी गई पायलट अखिलेश शर्मा को अंतिम विदाई ।अंतिम संस्कार में सोशल डिस्टेंस रखने का किया गया प्रयास ।केरल के कोझिकोड में हुए भीषण एयर इंडिया विमान हादसे मे मथुरा के रहने वाले पायलट अखिलेश शर्मा की इलाज के दौरान मौत हो गई थी ।आज पायलट अखिलेश शर्मा का पार्थिव शरीर उनके निवास पहुंचा ,जिसके बाद नम आंखों से गमहीन माहौल में पायलट को अंतिम विदाई दी गई ।

केरल प्लेन हादसा-पाइलेट को नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई-सोशल डिस्टेंसिंग का रखा ख्याल

गोविंद नगर थाना क्षेत्र के पोतरा कुंड के पास मृतक पाइलेट का रहता हैं। वही गाँव मे रहने वाले तुलसीराम के बेटे शुक्रवार को केरल के कोझिकोड में हुए हादसे में अखिलेश घायल हो गए थे। शुक्रवार की देर रात पाइलेट की इलाज के दौरान मौत हो गई। वही मृतक के पिता ने बताया कि एयर इंडिया की तरफ से इसकी जानकारी देर रात सभी परिवार को मिल गई। अखिलेश के भाई लोकेश शव लेने के लिए केरल रवाना हो गए थे । आज सुबह पायलट अखिलेश के पार्थिव शरीर को उनके निवास पोतरा कुंड पर लाया गया । जिसके बाद उन्हें नम आंखों से अंतिम विदाई दी गई । पायलट अखिलेश को उनके छोटे भाई राहुल ने मुखाग्नि दी ।

कोरोना संक्रमण के चलते अंतिम संस्कार में अधिक भीड़ देखने को नहीं मिली ,

लेकिन हर किसी की जुबान पर पायलट अखिलेश की बहादुरी के चर्चे थे। पायलट अखिलेश की अभी शादी दो साल पहले धौलपुर की रहने वाली लड़की के साथ हुई थी। साथ ही बताया जा रहा कि इस समय मृतक की पत्नी गर्भवती हैं और जल्द ही उनकी डिलीवरी होने वाली है। इसी वजह से परिवार वालो ने बताया कि परिजनों ने को पाइलेट अखिलेश की मौत की सूचना काफी समय तक उनकी गर्भवती पत्नी को नहीं दी थी । सिर्फ उनकी पत्नी को यह बताया गया कि उनके पति का विमान दुर्घटना ग्रस्त हो गया है जिसकी वजह से वोह घायल हो गए है और उनको लेने उनके भाई गए है।

अभी कोख में पल रहे मासूम ने पिता का चेहरा भी नहीं देखा,कि भगवान ने उसके पिता को छीन लिया।

लेकिन मेघा ने जब पति अखलेश के शब को देखा तो पैरों तले जमीन खिसक गई ।पत्नी का रो रो कर बुरा हाल था। अभी कोख में पल रहे मासूम ने पिता का चेहरा भी नहीं देखा,कि भगवान ने उसके पिता को छीन लिया। पायलट अखिलेश के परिवार पर मानो दुखों का पहाड़ टूट गया ।अखिलेश शर्मा साल 2017 से ही को-पायलट के रूप में कार्य कर रहे थे। वही वर्तमान में कोरोना को देखते हुए वंदे भारत मिशन के तहत विदेशों और बहारी मुल्कों में फंसे भारतीयों को लाने का काम कर रहे थे।वही पाइलेट की मौत से परिवार सदमे में हैं। और पूरे परिवार वालो का रो रो कर बुरा हाल है। फिर भी बेटे की बहादुरी पर परिवार और मथुरा वासियों को नाज है ।

इस दुख की घड़ी में परिवार को सांत्वना देने वाले लोगों का भी तांता लगा हुआ था ।।

अखिलेश के परिवार में उनके पिता तुलसीराम शर्मा मां बाला देवी ,और उनके दो छोटे भाई राहुल और लोकेश हैं । उनकी बहन डॉली की शादी हो चुकी है ,भाई की मौत की खबर सुनते ही बहन डोली अपने पति संदीप के साथ अपने पिता के घर पर पहुंच गई । पूरे परिवार का पूरा परिवार बार-बार पायलट अखिलेश को याद कर रहा था और उसके साथ बीते हुए पलों को बार बार बता रहा था ।इस दुख की घड़ी में परिवार को सांत्वना देने वाले लोगों का भी तांता लगा हुआ था ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *