पीलीभीत में सड़को का हाल बेहाल-नेशनल हॉइवे से लेकर दिल्ली जाने वाली सड़क बनी तालाब

पीलीभीत में सड़को हाल बेहाल है नेशनल हॉइवे से लेकर दिल्ली तक जाने वाली सड़कें अब तालाब बन चुकी हैं। यूं तो प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 15 जून 2017 तक प्रदेश के सभी जिलों को गड्ढा मुक्त करने के निर्देश जारी किए गए थे । लेकिन पीलीभीत में सड़कें अब तालाब का रूप लें चुकी हैं, जो आएं दिन दल दल से गुजरने वालो के लिए हादसे का सबब बन रही हैं । वहीं तालाब बन चुकी सड़को को लेकर गड्ढा मुक्त करने को लेकर लोक निर्माण विभाग सहित एन एच के अधिकारियों से बात करके जल्द ही वैकल्पिक व्यवस्था कर सड़को को दुरुस्त करवाया जाएगा ।

हादसों के चलते बढ़ती सड़क दुघर्टनाओ में न जाने कितने लोग  जान गवा चुकें है।

आप तस्वीरों में पानी से भरी इन सड़कों को जरा गौर से देखिएगा,, पहली तस्वीर हरिद्वार बरेली नेशनल हाइवे हो जोड़ता है। यूं तो नेशनल हाइवे से हर रोज हजारो की संख्या में आवागमन रहता है। लेकिन हॉइवे पर तालाब बन चुकी दलदल पर आए दिन सड़क हादसों में अक्सर लोग अपनी जान गवा देते हैं । यही नहीं जिला मुख्यालय से बीसलपुर से पीलीभीत मुख्यालय से जोड़ने वाला करीब 40 km का मार्ग सहित पूरनपुर हॉइवे से लखनऊ को जोड़ने वाली सड़कें अब तलाब का रूप लें चुकी हैं । जिन पर आए दिन होने वाले हादसों के चलते बढ़ती सड़क दुघर्टनाओ में न जाने कितने लोग  जान गवा चुकें है। लेकिन प्रदेश के गड्ढा मुक्त सड़कों के सारे करोड़ो के बजट को विभाग दीमक की तरह चाट कर बंदर बांट करने में जुटा है । लेकिन सड़कों का हाल आज भी बेहाल नजर आ रहा है ।

पीलीभीत से दिल्ली हरिद्वार व लखनऊ मार्ग को जोड़ने वाले नेशनल हॉइवे सहित…

और जिले जिम्मेदार जन प्रतिनिधि विधायक से लेकर सांसद तक इस ओर ध्यान देने को तैयार नहीं हैं।वहीं पीलीभीत में नवागत dm पुलकित खरे ने अपना कार्यभार सम्भालते ही पीलीभीत से दिल्ली हरिद्वार व लखनऊ मार्ग को जोड़ने वाले नेशनल हॉइवे सहित तमाम सड़को को जल्द ही गड्ढा मुक्त करवाकर एन एच के अधिकारियों से बात कर  यातायात सुचारू रूप से चलाने के निर्देश जारी कर दिए हैं ।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *