मौलाना कल्बे जवाद के धरने पर बैठने के बाद-झुकी योगी सरकार ताजिये रखने की मांगे मानी

आखिरकार घरों में ताजिए रखने और अजादारी पर पाबंदी लगाए जाने को लेकर जहां आज शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने अपना धरना शुरू कर दिया था। तो वहीं दूसरी तरफ उत्तर प्रदेश की सरकार ने फौरन इस मामले को संज्ञान में लेते हुए यूपी के सभी जिलों में एक आदेश जारी किया है। इस आदेश में सरकार ने कहा है कि घरों में ताजिए रखने और आजादारी पर नहीं होगी कोई भी प्रतिबंध।वहीं धरने पर बैठे मौलाना कल्बे जवाद की मांगे सरकार ने मानते हुए कहा कि मोहर्रम को देखते हुए मोहर्रम की जिम्मेदारी गृह सचिव को दी गई है।

उलेमा अपने जिलों के एसपी और एसएसपी से कर सकते हैं मुलाकात।

सवा 2 महीने तक मोहर्रम की व्यवस्थाओं पर गृह सचिव रखेंगे 24 घंटे अपनी नजर साथ ही साथ सभी जिलों के उलेमाओं की फोन की लिस्ट भी सरकार ने मांगी है।जिससे कोई भी समस्या का हल 24 घंटे में किया जा सके साथ ही किसी भी समस्या के लिए कॉल की जा सके साथ ही साथ यह भी कहा गया है कि अपनी समस्याओं और किसी भी वजह से सभी उलेमा अपने जिलों के एसपी और एसएसपी से कर सकते हैं मुलाकात।

धरने पर बैठे मौलाना कल्बे जवाद की मांगे सरकार द्वारा मान लिए जाने पर किया समुदाय..

आपको बताते चलें कि आज शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जवाद ने इमामबाड़ा गुफरान माह में अपना धरना दिया था मौलाना कल्बे जवाद का कहना था कि जिस तरीके से घरों और इममबाडो मे मजलिस और ताजिये नहीं रखने दिए जा रहे हैं वह गलत है। और हम लोग सोशल डिस्टेंसिंग और कोविड-19 का ख्याल रखते हुए घरों में ताजिए और इमामबाड़े में मजलिस करना चाहते हैं। लेकिन सरकार इसकी इजाजत नहीं दे रही है ।जिसको लेकर या धरना किया गया था धरने पर बैठे मौलाना कल्बे जवाद की मांगे सरकार द्वारा मान लिए जाने पर किया समुदाय में काफी खुशी का माहौल छा गया।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *