कानपुर लव जेहाद का नाम देकर थाने में बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने किया हंगामा।

कानपुर में  एक प्रेमी जोड़े द्वारा शादी किए जाने पर लव जिहाद का नाम देकर  थाने पर जहां एक तरफ बजरंग दल के लोगों ने हंगामा किया तो वहीं दूसरी तरफ कोविड-19 की गाइडलाइन नो का उल्लंघन करते हुए  धरना प्रदर्शन और नारेबाजी भी की कानपुर नगर के बर्रा 6 निवासी शालिनी यादव ने फैसल नामक युवक से 29 जून को भागकर 2 जुलाई को गाजियाबाद से प्रेम विवाह (कोर्ट मैरिज/निकाह) कर लिया। जिसके बाद वो अपने पति के साथ खुशी खुशी रहने लगी। लड़की के परिवार वालों को जब शादी की सूचना मिली तो उसके बाद परिवार वालों ने लड़के के ऊपर तमंचे की नोक पर लड़की को ले जाने और साथ ही ₹10,00,000 (दस लाख रुपए) के गहने ले जाने के आरोप में थाने पर एफ आई आर दर्ज करवाई और उनके सारे परिवार वालों का नाम बताया जिस पर लड़की का यह कहना है कि यह सब झूठ है मैं अपनी मर्जी से आई हूं मैं अपने पति को पिछले 6 साल से जानती हूं मुझ पर किसी का कोई दबाव नहीं है कृपया करके आप लोग किसी को परेशान मत करिए मेरी ना ही मेरे परिवार वालों से कोई गिला शिकवा है ना ही किसी और से इस तरह की झूठी रिपोर्ट ना लिखवाएं। थाना किदवई नगर में पता करने पर ये ज्ञात हुआ के फैसल उसके पिता और चाचा सहित सात लोगों पर मुकदमा लिखा गया है।

बजरंग दल की इस दबंगई पर कानपुर जिला प्रशासन कुछ कार्यवाही करता है या ये ऐसे ही गंगा जमुनी तहजीब।

इसके बाद कानपुर के बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने थाना किदवई नगर के बाहर हंगामा करना शुरू कर दिया उन्होंने कोविड-19 की गाइडलाइंस के साथ-साथ यातायात नियमों का उल्लंघन करते हुए थाने का घेराव किया और उनकी पुलिस से कहासुनी भी हुई। इसमें दिलीप सिंह बजरंगी (जिला संयोजक बजरंग दल कानपुर दक्षिण) ने कहा की लड़की को जबरदस्ती बहला फुसलाकर भगा कर इसमें लव जिहाद जैसा कार्य किया है।जबकि लड़की का कहना है के ऐसा कुछ भी नहीं है। क्या बजरंग दल की इस दबंगई पर कानपुर जिला प्रशासन कुछ कार्यवाही करता है या ये ऐसे ही गंगा जमुनी तहजीब को अपने हाथ मे लेकर, एकता की मिसाल कहे जाने वाले कानपुर में लड़ाई फसाद का माहौल बनाते रहेंगे।

लड़की को मजिस्ट्रेट के सामने पेश करके उसके बयान के आधार पर की जाएगी बजरंग दल के विवादित बयान पर..

हइस संबंध में जब शहर काजी कानपुर क़ारी मामूर अहमद जामई साहब से बात की तो उन्होंने कहा के ये सरासर ग़लत है। दोनों ने अपनी मर्ज़ी से शादी की है ये कोई लव जिहाद नहीं है जिला प्रशासन को इन दोनों की सुरक्षा मुहैय्या करना चाहिए अन्यथा शहर में माहौल बिगड़ सकता है। वहीं पुलिस उपमानिरीक्षक/ वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक कानपुर नगर महोदय का यह कहना है के लड़की के परिवार वालों के कहने पर पहले गुमशुदगी फिर मुकदमा पंजीकृत किया गया है आगे की कार्यवाही लड़की को मजिस्ट्रेट के सामने पेश करके उसके बयान के आधार पर की जाएगी बजरंग दल के विवादित बयान पर एसएसपी महोदय ने कहा के वीडियो देखकर उसकी जांच की जाएगी और जो भी इस मामले में दोषी या अपराधी पाया जाएगा तो उसके खिलाफ कानूनन सख्त से सख्त कार्यवाही किया जायेगा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *