गरीब जनता से यूपी पुलिस ने की 68 करोड़ की रकम वसूली-पुलिस ने जारी किया प्रेस विज्ञप्ति

राजधानी लखनऊ में मुख्यालय पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश द्वारा कोरोना वायरस से रोकथाम हेतु निर्गत एडवाइजरी के दृष्टिगत की गई कार्यवाही के विवरण की प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है। जिसमें बताया गया है कि एचसी अवस्थी पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश द्वारा जहां एक तरफ समस्त जोनल के अपर पुलिस महानिदेशक समेत पुलिस आयुक्त लखनऊ गौतम बुद्ध के साथ अन्य पुलिस महा निरीक्षक प्रभारी जनपद उत्तर प्रदेश को शासन द्वारा प्रदेश भर में वायरस की रोकथाम हेतु एडवाइजरी के डिस्ट्रिक्ट कार्यवाही किए जाने के क्रम में जो निर्देश दिए गए थे उस निर्देश में अब तक हुई कार्यवाही का विवरण मुख्यालय पुलिस महानिदेशक उत्तर प्रदेश द्वारा प्रेस विज्ञप्ति के रूप में जारी किया गया है।

बताया गया है कि अब तक ₹683029979 गरीब आम जनता से वसूल किया गया है।

जिसमें बताया गया है कि कोरोनावायरस के रोकथाम के मद्देनजर कई गाड़ियों के किए गए थे चालान। वहीं प्रेस विज्ञप्ति में बताया गया है कि लगभग 3527731 वाहनों का चालान किया गया साथ ही साथ 69464 वाहनों को सीज भी किए गए हैं।इसके साथ ही अगर बात करे शमन शुल्क की धनराशि की तो जो प्रेस विज्ञप्ति जारी की गई है उसमें बताया गया है कि अब तक ₹683029979 गरीब आम जनता से वसूल किया गया है। इसके साथ ही साथ धारा 188 के तहत 202358 लोगों पर कार्यवाही भी की गई है।इसके अलावा ईसी एक्ट के अंतर्गत 821 अभियोग पंजीकृत किया गया है।

चालान करके इतनी बड़ी रकम शुल्क के रूप में जमा कराना भी कहीं ना कहीं एक बड़ी टेढ़ी खीर था।

गरीब जनता से यूपी पुलिस ने अभी तक वसूली 68 करोड़ की रकम वहीं पुलिस विभाग द्वारा जारी किए गए इस प्रेस विज्ञप्ति जारी करने के बाद हैरान करने वाली बात सामने यहां आई की 68 करोड रुपए से कहीं ज्यादा की वसूली कोरोना काल में बेरोजगार हो चुके आम जनता से वसूली गई है। लेकिन कोरोना काल में चालान करके इतनी बड़ी रकम शुल्क के रूप में जमा कराना भी कहीं ना कहीं एक बड़ी टेढ़ी खीर था। जिसको यूपी पुलिस ने कर कर भी दिखा दिया। लेकिन बरहाल जो भी हो चालान द्वारा जमा की गई इतनी बड़ी रकम यह जरूर इशारा कर रही है कि कहीं ना कहीं कोरोना काल में गरीब आदमी जीना मुहाल हो गया है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *