एडीजी ने कोविड19 हेल्प डेस्क में लापरवाही पर कोतवाल सहित कई पुलिसकर्मीयो को किया लाइन हाजिर

कोविड 19 हेल्प डेस्क में लापरवाही पर कोतवाल लाइन हाजिर, दो सब इंस्पेक्टर, एक अकाउंटेंट व हेड कांस्टेबल निलंबित, एडीजी की कार्रवाई से हड़कंप

यूपी के कौशांबी में कोरोना काल में सरकारी दफ्तरों में लापरवाही उजागर हुई है। यह लापरवाही प्रयागराज जोन के एडीजी प्रेम प्रकाश के आकस्मिक निरीक्षण में ही देखने को मिली। दरअसल एडीजी अपने एक दिवसीय दौरे में बुधवार की आधी रात को कौशांबी आए थे। रात्रि विश्राम के बाद वह आकस्मिक निरीक्षण पर निकले। मंझनपुर कोतवाली पहुंचे। सबसे पहले कोविड हेल्प डेस्क में तैनात सिपाहियों से जांच उपकरण के बारे में पूछा

कोरोना काल मे लापरवाही देख एडीजी काफी नाराज हुए और उन्होंने मंझनपुर कोतवाल मनीष कुमार पांडेय को लाइन.

जहा पर महिला सिपाही को थर्मल स्कैनिग व पल्स ऑक्सिमिटर चालान नहीं आ रहा था। कोरोना काल मे लापरवाही देख एडीजी काफी नाराज हुए और उन्होंने मंझनपुर कोतवाल मनीष कुमार पांडेय को लाइन हाजिर कर दिया। शिकायती पत्रों के निस्तारण के बारे में जानकारी की तो पता चला कि एसपी ऑफिस से सभी पत्र समय से मंझनपुर कोतवाली को भेज दिया जाता है। लेकिन संबंधित सब इंस्पेक्टर उसका समय से निस्तारण नहीं करते।

जिले में एडीजी प्रेम प्रकाश ने पहली दफा बड़ी कार्रवाई की है। उनकी कार्रवाई से पुलिस महकमे में हड़कंप का.

वही उन्होंने टेवा चौकी प्रभारी इन्द्रकांत यादव, सब इंस्पेक्टर अरुण कुमार मौर्या व हेड कांस्टेबल सुभाष चंद्र को निलंबित कर दिया। इससे पहले उन्होंने ने एसपी ऑफिस का निरीक्षण किया था। वहां पर आकॉउंटेंट कार्यालय की व्यवस्था ठीक नहीं मिली। अकॉउंटेंट मनोज कुमार श्रीवास्तव को भी सस्पेंड कर दिया। जिले में एडीजी प्रेम प्रकाश ने पहली दफा बड़ी कार्रवाई की है। उनकी कार्रवाई से पुलिस महकमे में हड़कंप का माहौल है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *