इलाहाबाद हाईकोर्ट ने डॉक्टर कफील को तुरंत रिहा करने को कहा-रिहा होंगे डॉक्टर कफील

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने अलीगढ़ यूनिवर्सिटी से 13 दिसंबर 2019 को गिरफ्तार किए गए डॉ कफील को तुरंत ही रिहा करने को कहा है बताया जा रहा है कि इलाहाबाद हाईकोर्ट ने बीआरडी के डॉ कफील की NSA में निरुद्धि के जिलाधिकारी अलीगढ़ के आदेश, उसका कन्फ़र्मेशन रद्द कर दिया है। रासुका NSA में निरुद्धि और उसकी अवधि बढ़ाने को भी कोर्ट ने अवैधानिक करार दिया है। साथ ही डॉक्टर कफील अविलंब रिहा करने का निर्देश दिया है।

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने डाक्टर कफील खान की रासुका निरूद्धि को अवैध करार देते हुए रद्द कर दिया है।

सीएए एनआरसी और एनपीए का लगातार डॉ कफील विरोध कर रहे थे जिसको लेकर उन्होंने कई भाषण भी दिए थे पुलिस का आरोप था कि डॉ कफील द्वारा दिए गए भाषण भड़काऊ थे जिसके चलते पुलिस ने अलीगढ़ यूनिवर्सिटी से डॉक्टर कफील को गिरफ्तार किया था जिसके बाद डॉक्टर कफील के ऊपर एनएसए जैसी गंभीर धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था लगातार डॉ कपिल को छुड़ाने की कोशिश भी कोर्ट से हो रही थी लेकिन आज इलाहाबाद हाईकोर्ट ने डाक्टर कफील खान की रासुका निरूद्धि को अवैध करार देते हुए रद्द कर दिया है। और रासुका निरूद्धि अवधि बढाने के आदेश को भी अवैध करार दिया है। तत्काल रिहाई का आदेश दिया है। यह आदेश आज इलाहाबाद हाइकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश गोविन्द माथुर और न्यायमूर्ति एस डी सिंह की खंडपीठ ने नुजहत परवीन की बंदीप्रत्यक्षीकरण याचिका पर दिया है।

प्रधानमंत्री को एक लेटर लिख कर अपनी रिहाई और कोविड-19 के मरीजों की देखभाल करने की.

इसके साथ ही आपको बताते चलें कि जेल में रहते हुए भी गोरखपुर के बीआरडी मेडिकल कॉलेज के बाल रोग विशेषज्ञ डॉक्टर ने प्रधानमंत्री को एक लेटर लिख कर अपनी रिहाई और कोविड-19 के मरीजों की देखभाल करने की उन्होंने मांग रखी थी। वहीं इलाहाबाद हाई कोर्ट द्वारा डॉ कफील को तुरंत रिहा करने के आदेश के बाद से डॉक्टर कफील के फैंस में खुशी का माहौल छा गया है बताया जा रहा है कि डॉ कपिल की रिहाई के लिए प्रियंका गांधी से लेकर कई बड़े नेताओं ने भी यूपी के सीएम को लेटर लिखा था और कहा था कि अपनी वहां डॉक्टर का खेल के विषय में संवेदनशीलता दिखाएं।

#KafeelKhan #allahabadhighcourt #NSA

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *