महिला ने दो प्रधान और ग्राम अधिकारी पर लगाया गैंगरेप का आरोप-महिला की खुली पोल

गोंडा

जिसको लेकर जब जांच किया तो पता चला कि यह मामला जमीन कब्जेदारी  का है ना कि गैंगरेप का है।

यूपी सीतापुर के सदरपुर थाना क्षेत्र में एक सनसनीखेज मामला सामने आया है। यहां एक महिला ने दो मौजूदा प्रधान और एक ग्राम पंचायत अधिकारी पर अपने साथ गैंगरेप करने का आरोप लगाया है। पीड़िता के अनुसार उसे असलहे के बूते कार में जबरदस्ती ले जाकर उसके साथ जंगल मे गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया । जिसकी तहरीर सदपुर थाना क्षेत्र में इस महिला ने दी। जिसके बाद क्षेत्राधिकारी महमूदाबाद जांच करने मौके पर पहुंचे और जांच में महिला के आरोपों को फर्जी पाया है।

रंगे हाथ पकड़े जाने पर प्रेमी प्रेमिका के मुंह पर कालिख पोत जूतों की पहनाई माला।

गैंगरेप

फिलहाल पुलिस क्षेत्राधिकारी मामले की तह तक जाने में जुटे हैं।वही महिला के साथ दो प्रधान और ग्राम अधिकारी द्वारा गैंगरेप क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। मिली जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार की ग्राम शौचालय जैसी महत्वपूर्ण योजना को अमली जामा पहनाने के उद्देश्य से भुसना गांव में सार्वजनिक शौचालय का निर्माण ग्राम प्रधान गंगाराम के द्वारा कराया जा रहा था । बीते 23 अगस्त से प्रारंभ हुए कार्य मे जैसे ही तेजी आई वैसे ही 25 अगस्त को पड़ोस की विजमा देवी पत्नी विजय कुमार चौबे ने शौचालय की नवनिर्मित दीवार यह कह कर गिरा दी थी कि यह जमीन उनकी है। उसी के बाद महिला और बाकी में वाद विवाद हो गया जिसके पास बताया जा रहा है कि महिला ने बताया है कि उसके साथ गैंगरेप किया गया है।

कर्बला में हुआ चमत्कार-पेड़ से निकलने लगा पानी-लोगों ने माना दैवीय चमत्कार।

वहीं पुलिस की मानें तो गैंगरेप की महिला द्वारा लगाए गए प्रधान और ग्राम अधिकारियों पर आरोप निराधार साबित हुए हैं। क्योंकि जांच करने पर पता चला कि यह मामला पूरा ही जमीन को कब्जे में लेने का है और जो महिला है। वह उस जमीन पर कब्जा करना चाहती हैं जिसको लेकर कानूनगो से और लेखपाल ने उस जमीन को जब जाँच और परखा तो पता चला कि वह जमीन महिला की नहीं है।जिसके बाद जब प्रधान द्वारा शौचालय का निर्माण कराया जाने लगा तो गुस्से में आकर महिला ने शौचालय की दीवार गिरा दी और जमीन पर कब्जा करने लगी। जिसको लेकर दोनों पक्ष आपस मे भिड़ गए। पुलिस का कहना था कि वही महिला द्वारा थाने में तहरीर दी गई थी कि महिला के साथ दो प्रधान और ग्राम अधिकारी ने गैंगरेप किया है।जिसको लेकर जब जांच किया तो पता चला कि यह मामला जमीन कब्जेदारी  का है ना कि गैंगरेप का है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *