मौत का झूला झूल कर काम करने को मजबूर है योगी सरकार में मजदूर-देखे हैरान करने वाली तस्वीरे

मौत रस्सी1

जिसने भी सोशल मीडिया पर मौत की रस्सी के सहारे इस मजदूर को सेतु निर्माण निगम का कार्य करते हुए देखा उसने दांतो तले..

रस्सी के जरिए झूलती हुई एक मजदूर की तस्वीर आप देखकर सब हैरान हो जाएंगे जब आपको मालूम पड़ेगा कि यह मजदूर उस निर्माण कार्य के दौरान रस्सी की मदद से ऊपर चढ़ा रहा है जो खुद सरकार द्वारा कराया जा रहा है। यह तस्वीर सेतु निर्माण के दौरान पुराने लखनऊ के नखास चौराहे के पास की है। जहां पर एक मजदूर सेतु निर्माण के दौरान रस्सी के सहारे यातायात चलते रहने के दौरान ऊपर चढ़ रहा है। आप इस बात से अंदाजा लगा सकते हैं कि अगर हल्का सा हाथ फिसल जाए तो यह मजदूर मौत के काल में समा जाएगा। लेकिन मजदूर की मौत से शायद शासन और प्रशासन के साथ आला अधिकारियों को कोई लेना देना नहीं है। तभी यह मजदूर मौत की रस्सी झूलने को मजबूर है।

कंगना रनौत के समर्थन में करणी सेना ने किया प्रदर्शन-पुलिस में हुई तीखी नोकझोंक।

मौत रस्सी
चलिए आपको बताते हैं कि यह तस्वीर आखिर है कहां की यह तस्वीर कहीं और कि नहीं उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के नखास के पास की है। जहां पर इन दिनों सेतु निर्माण का काम जोरों शोरों पर चल रहा है।सेतु निर्माण के कार्य के दौरान सबसे व्यस्त रहने वाली पुरानी लखनऊ की सड़कों पर ट्रैफिक भी उसी तरीके से दौड़ रहा है जिस तरीके से पहले दौड़ता था। बस फर्क यह रह गया है कि ट्रैफिक दौड़ते समय अब लोगों को सेतु निर्माण के कार्य से भी दो-चार होना पड़ता है। तस्वीरों में देखा जा सकता है कि एक मजदूर किस तरह अपनी जान जोखिम में डालकर ऊपर चल रहा है।इसी दौरान सड़क पर ट्रैफिक चल रहा था और एक मजदूर रस्सी के सहारे सेतु निर्माण द्वारा बनाए जा रहे पुल पर चढ़ता जा रहा था और ऊपर बैठे मजदूर वेल्डिंग का काम कर रहे थे। जिसे देखकर एक वक्त आप भी कहने से नहीं चूकते कि मजदूर मौत की रस्सी झूले पर मजबूर है। वही मजदूरों हितों का दम भरने वाले अधिकारी भी नदारद नजर आए।

फिल्म एक्टर अरहम अब्बासी ने मौलाना खालिद रशीद से की मुलाकात-कोरोना के खात्मे की मांगी दुआ।

सेतु निर्माण निगम द्वारा पुल के निर्माण के समय मौत की रस्सी झूलते हुए इस मजदूर का वीडियो तेजी से सोशल मीडिया पर भी वायरल हो गया। जिसने भी सोशल मीडिया पर मौत की रस्सी के सहारे इस मजदूर को सेतु निर्माण निगम का कार्य करते हुए देखा उसने दांतो तले उंगली दबा ली। लेकिन सबसे हैरान करने वाली बात यह नजर आई कि ना तो इसकी खबर शासन को है ना प्रशासन को न किसी अधिकारी को और जबकि काम उन्हीं की निगाहों में चल रहा है। तब भी यह गरीब मजदूर मौत की रस्सी झूलने को मजबूर दिखा दे रहा है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *