कोरोना पॉजिटिव मरीज इस दवा को पीने के बाद हो जाते हैं नेगेटिव-युवक ने किया दावा

कोरोना दवा

युवक ने कोरोना वायरस की दवा बनाने का किया दावा-कोरोना मरीजो का दवा पीने के लिये लगा तांता..

लखनऊ के मोहनलालगंज में एक युवक ने कोरोना वायरस की दवा बनाने का दावा किया है। मऊ के रहने वाले युवक का कहना है कि उसने कोविड-19 की दवा बना ली है। जंगल से लाई हुई जड़ी बूटियों से उसने 2 महीने की मेहनत के बाद कोरोना वायरस की दवा बनाई है। देश दुनिया में फैली हुई सबसे बड़ी महामारी यानि कि कोविड-19 की बीमारी में जहा कोरोना वायरस की दवा एक तरफ दुनिया भर के वैज्ञानिक बनाने में जुटे हुए हैं तो वहीं राजधानी लखनऊ के मोहनलालगंज के मऊ के रहने वाले एक युवक ने जड़ी बूटी के जरिए कोरोना वायरस को ठीक करने का किया है दावा।

मां करती थी अपने मासूम बच्चे से दरिंदगी-कई जगह से तोड़ी हड्डी-बाप ने कि वीडियो वायरल।

कोरोना दवा 1
मऊ के रहने वाला इस युवक का कहना है कि जो भी कोरोना पॉजीटिव मरीज उसकी बनाई हुई दवा को अगर पी लेता है तो वह जल्द से जल्द कोरोनावायरस से ठीक हो जाता है। यही नहीं युवक ने तीन कोरोना पाजीटिव मरीजो को कैमरे के आगे तीन गिलासों में दवा देकर उनका करोना ठीक करने का दावा किया है। यही नहीं कैमरे के आगे पहले तो युवक ने अपने हाथ में ली हुई कोरोना वायरस की दवा जो कि युवक का दावा है उसने बनाई है। उसको पहले खुद पीकर दिखाता है बाद में उसका कहना है कि वह कोरोनावायरस के मरीजों को वह दवा पिलाता है। जिससे जल्द से जल्द कोरोना वायरस ठीक होने का युवक दावा भी कर रहा है। वहीं युवक द्वारा कोरोना वायरस की दवा बना लेने का दावा करने के बाद कोरोना वायरस के मरीजों का तांता लग गया।युवक का कहना है कि सरकार उसकी बनाई हुई कोरोनावायरस की इस दवा यानी वैक्सीन की जांच भी करवा ले। वही कोरोना वायरस की दवा बना लेने वाले युवक सोनू हरि ने कहा कि सरकार जांच करने के बाद इस दवा को जनमानस के हित में देखते हुए लोगों में वितरित भी करें।

दबंग महिला ने पहले तो युवक को लाठी से पीटा किया अमानवीय हरकत-तस्वीरों में कैद हुई हरकत।

वही कोरोना वायरस का इलाज ढूंढ लेने वाले यानी कि वैक्सीन ढूंढ लेने वाले युवक सोनू हरि शनिवार के दिन लोगों को कोरोना वायरस की दवा भी पिलाता है। साथ ही दूसरों को दवा पिलाने से पहले खुद उसको पीकर लोगों को सुरक्षित रहने का एहसास भी दिलाता है। लेकिन इस युवक के कोरोना वायरस की वैक्सीन यानी दवा बना लेने के दावे कितने सही हैं। यह तो नहीं कहा जा सकता है लेकिन एक बात यह जरूर है कि कोरोना वायरस की दवा बना लेने के दावे करने वालों की दुकानें जरूर चलने लगी है। ऐसे दावे करने वाले लोगों पर सरकार को खासतौर से ध्यान रखने की जरूरत है। क्योंकि जिस दवा को बनाने के लिए देश के वैज्ञानिक से लेकर पूरी दुनिया के वैज्ञानिक लगे हुए हैं। तब जंगलों से बूटी लाकर कोरोनावायरस का इलाज ढूंढने का दावा करने वाले इस युवक की बातों में आकर ना जाने कितने कोरोनावायरस के मरीज अपने आपको परेशानी में भी डाल सकते हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *