गोंडा-पेड़ों पर उभरी शिवलिंग की आकृति-लोगों ने नहीं काटे पेड़

शिवलिंग

शिवलिंग बनाकर इन बेटियों ने बेहद अनूठा प्रयास पेड़ो को बचाने के लिए पेड़ो पर भगवान केे चिन्ह बनाये।

एक तरफ कंगना रनौत ने महाराष्ट्र सरकार ले खिलाफ मोर्चा खोल रखा है तो वही दूसरी तरफ गांव की बेटियों ने पडो को बचाने के लिए एक अनोख युद्ध छेड़ दिया है। यूपी के गोंडा में गाँव की बेटियों ने पेड़ न काटने देने का एक अनूठा तरीका ईजाद किया है। जिससे लोग आस्था और दहशत में पेड़ो को न काटे उन्होंने गाँव के पेड़ो पर पेंट से भगवान् के प्रतीक चिन्ह बनाये है। कही डमरू बना है तो किसी में त्रिशूल तो किसी में चक्र शिवलिंग बनाकर इन बेटियों ने बेहद अनूठा प्रयास पर्यावरण की रक्षा के लिए किया है। गोंडा के धानेपुर ब्लाक पंडित पुरवा निवासिनी रानी लछमी बाई वीरता पुरुष्कृत जूली पांडेय व् उनकी टीम ने अपने गाँवों व् आसपास के गाँवों में इसकी शुरुआत की है। जूली ने बताया की पेड़ लग कम रहे है और कट ज्यादा रहे है। जिसको देखते हुए  उनकी टीम ने पेड़ो को बचाने के लिए पेड़ो पर भगवान् के प्रतीक चिन्ह बनाये है। ताकि इस शिवलिंग की आकृति देखकर लोग पेड़ो को न काटे। लड़कियों का कहना है की पित्तरपछ में वह अपने पूर्वजो से यह वादा कर रही है की उनके लगवाए गए पेड़ो को वह कटने नहीं देंगी।

गाय भैंस को हाँकने के चक्कर में-दो किसानों की आकाशीय बिजली से हुई मौत

शिवलिंग2

गोंडा पर्यावरण के रक्षा के लिए गाँव की बेटियों ने अब कमान संभाल ली है। यह शानदार तस्वीर देखने के लिए आपको गोंडा के मुजेहना ब्लाक के पंडितपुरवा गाँव की टेढ़ी मेढ़ी पगडंडियों को पार करके आना पड़ेगा। जहा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा रानी लछमी बाई वीरता से पुरुष्कृत जूली पांडेय अपने टीम की सहेलियों के साथ पित्तरपछ में एक अनूठी मुहीम गाँवों में छेड़े है। वह व उसकी टीम पेड़ो को न कटने देने के लिए पेड़ो पर भगवान् जी के शिवलिंग और प्रतीक चिन्हो को पेण्ट से बनाती है।

उत्तर प्रदेश-सपा ने किया कलेक्टर परिसर में प्रदर्शन-सरकार के खिलाफ लगाये नारे..

इन बेटियों ने किसी पेड़ में त्रिशूल तो किसी में डमरू सूरज, शिवलिंग और किसी में ॐ की आकृति उकेरी है।बेटियों ने कई पेड़ो पर अब तक पेंटिंग करके लोगो को पेड़ न काटने की बात भी बताती है। टीम का मानना है की जब पेड़ो पर भगवान् के प्रतीक चिन्ह बने रहेंगे तो लोग आस्था और दहशत में पेड़ को नहीं काटेंगे। इन बेटियों ने अपने पूर्वजो से पित्तरपछ में वादा भी किया है की वह उनके लगवाए गए पेड़ो को नहीं कटने देंगी। वहीं पेड़ पर  भगवान के प्रतीक चिन्हों के पेंटिंग कर रही बेटियों का कहना था कि उनके द्वारा पेड़ों पर उभरी शिवलिंग  कि आकृति देखकर लोगों ने नहीं काटे पेड़। बहरहाल अब देखना होगा कि इन बेटियों की यह मुहीम कितनी रंग लाती है.।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *