अमीनाबाद के पटरी दुकानदारों ने हाथों में कटोरा लेकर मांगी भीख कहा बच्चे मर रहे भूखे

पटरी

जिसके चलते पटरी दुकानदार प्रदर्शन करने को मजबूर हो गए और आज उन्होंने हाथों में कटोरा लेकर अमीनाबाद में भीख मांगी है।

राजधानी लखनऊ के अमीनाबाद मे पटरी पर दुकान लगाने वाले दुकानदारों ने आज किया अमीनाबाद में अपना विरोध प्रदर्शन, जहां पर पटरी दुकानदारों ने हाथों में कटोरा लेकर लोगों से मांगी भीख, साथ ही साथ पटरी दुकानदारों ने कहा कि पटरी पर दुकान ना लगने के कारण भुखमरी की कगार पर है उनका परिवार जिसके चलते आज उनके बच्चे भूखे रहने पर है मजबूर। उसके बावजूद भी नहीं सुन रहा है कोई भी उनकी फरियाद जिसके चलते आज हाथों में कटोरा लेकर फुटपाथ पर पट्टी दुकान लगाने वाले दुकानदारों ने भीख मांगी है। साथ ही पटरी पर दुकान लगाने की सरकार और अधिकारियों से की है गुजारिश।

भाजपा नेता निकला अवैध शराब का मास्टरमाइंड-पुलिस ने किया गिरफ्तार।

पटरी1
भीख मांग रहे हैं पटरी दुकानदारों का कहना था कि अमीनाबाद में वर्षो से वह लोग अपनी दुकान फुटपाथ पर लगाते आए हैं। लेकिन देश में वैश्विक महामारी के आने के कारण सभी मार्केट बंद कर दी गई थी। और लॉक डाउन लगा दिया गया था लेकिन जब लॉक डाउन खुला तो पक्की दुकानदारों ने पटरी दुकानदारों को अपनी दुकानें लगाने से मना कर दिया। जिसके बाद पटरी दुकानदारों ने इसकी शिकायत जहां एक तरफ नगर निगम के आला अधिकारियों से की तो वहीं दूसरी तरफ उन्होंने शासन और प्रशासन तक अपनी समस्या का एक लेटर लिखकर अवगत कराया। लेकिन उसके बावजूद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। जिसके चलते पटरी दुकानदार प्रदर्शन करने को मजबूर हो गए और आज उन्होंने हाथों में कटोरा लेकर अमीनाबाद में भीख मांगी है।

रंगरेलियां मानते पकड़े जाने पर-पत्नी व उसके प्रेमी ने मिलकर पति की पिटाई

अमीनाबाद के फुटपाथ पर पटरी दुकानदारों को दुकान ना लगाए जाने देने की वजह से इससे पहले भी पटरी दुकानदार कर चुके हैं अमीनाबाद में प्रदर्शन, उसके बावजूद भी किसी भी अधिकारी ने इनकी बातों को नहीं सुना जिसके चलते पटरी दुकानदारों का कहना था कि आज उनको अपने हाथों में कटोरा लेकर भीख मांगना पड़ रहा है। अगर वह भीख नहीं मांगेंगे तो उनका परिवार और उनके बच्चे भूख से मर जाएंगे।कई सालों से बताया जा रहा है कि अमीनाबाद में फुटपाथ पर पटरी पर लोग दुकानें लगाते थे।लेकिन कोरोनावायरस के आने से पटरी और पक्की दुकानों को बंद करा दिया गया था। लेकिन जब सरकार ने दुकानें खोलने का आदेश किया और वह लोग फुटपाथ पर अपनी दुकान लगाने के लिए जाने लगे तो वहां मौजूद अधिकारी और दुकानदारों ने उनको दुकान लगाने से मना कर दिया। जिसके बाद से लगातार पटरी दुकानदार अपना विरोध प्रदर्शन जाहिर कर रहे हैं।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *