20 दिन पुरानी कब्र से महिला का निकाला गया शव-पुलिस रही मौजूद

कब्र

कब्र से खोदकर निकाला गया महिला का शव मजिस्ट्रेट व पुलिस की मौजूदगी में खोदा गया महिला का शव..

उत्तर प्रदेश के हरदोई के बिलग्राम कोतवाली क्षेत्र में एक चौंकाने वाली घटना सामने आई जहां पर एक महिला का शव 20 दिन के बाद उसकी कब्र से खोदकर निकाला गया। क्योंकि मृतक महिला के परिवार वालों ने लगाया था लाश गायब करने का आरोप जिसके चलते आज पुलिस की मौजूदगी में महिला का शव उसकी कब्र से 20 दिन के बाद खोद कर निकाला गया। मृतक महिला की मां ने कोर्ट के जरिए और डीएम के आदेश के बाद कब्र खोदकर शव को निकाला गया और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। कोर्ट के जरिए  मृतक महिला की मां ने मृतक महिला की हत्या का लगाया था आरोप।

रंगरेलियां मानते पकड़े जाने पर-पत्नी व उसके प्रेमी ने मिलकर पति की पिटाई।

कब्र1
बिलग्राम कोतवाली क्षेत्र के तबेला मैदानपुरा का यह पूरा मामला है। जहां पर 20 दिन पहले ससुराल में हुई मौत के बाद दफन किया गया शव को मृतक महिला की माँ ने ससुरालियों पर दहेज के लिए मारकर गायब करने के लगाए थे आरोप। मृतक महिला की मां ने कोर्ट के जरिए 156-3 में एक प्रार्थना पत्र दिया था। जिसके बाद जिलाधिकारी ने आदेश और निर्देश दिया था कि मृतक महिला की कब्र को खोदकर मृतक महिला का शव को निकाला जाए और उसको पोस्टमार्टम के लिए भेजा जाए ताकि मृतक मां द्वारा लगाए गए आरोपों की सच्चाई तक पहुचा जा सके। जिसको देखते हुए आज मजिस्ट्रेट और पुलिस की मौजूदगी में मृतक महिला का शव उसकी कब्र से खोदकर बाहर निकाला गया।

घरों में शहनाई की गूंज ना गूंजने से फूलों के मुरझाए चेहरे- फूल कारोबारियों का धंधा ठप..

मृतक महिला का मां कहना था कि उसकी बेटी जिसकी उम्र 27 साल थी ससुराल वालों ने दहेज के चलते हत्या कर दी है। क्योंकि लगातार ससुराल वालों की तरफ से दहेज मे एक बुलेट गाड़ी और ₹100000 की मांग की जा रही थी। हैसियत ना होने के चलते इतना पैसा और बुलेट गाड़ी देना मृतक महिला की मां के बस की नहीं था। जिसके चलते उसकी बेटी की हत्या की गई है। और पहले तो उसको जलाया गया बाद में उसको दफना दिया गया। लेकिन अगर पुलिस की मानें तो पुलिस का कहना है कि 20 दिन पहले दोनों पक्षों ने अपनी रजामंदी से मृतक महिला का शव दफनाया था। लेकिन फिलहाल कोर्ट के जज और मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में 20 दिन के बाद महिला का शव उसके कब्र से खोदकर निकाला गया साथ ही पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। अब देखना है कि मृतक की मां द्वारा हत्या के लगाय गए आरोप कितने सच साबित होते है या मृतक को इंसाफ मिल पाता है।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *