भगवान परशुराम के वंशजों की हत्या, और उनके शोषण पर रोक लगाए भाजपा सरकार

ब्राह्मण

भारतीय जनता पार्टी कि सरकार में ब्राह्मणों पर हो रहे अत्याचार जुल्मों सितम पर बयान दिया।

आज ब्राम्हण समाज की एक जनसभा को संबोधित करते हुए मनोज पांडेय (सपा प्रबुद्ध प्रकोष्ठ महासभा के प्रदेश अध्यक्ष) ने  बताया और कहा कि भगवान परशुराम के वंशजों पर हो रहे अत्याचार और उनकी की जा रही हत्याओं पर सरकार रोक लगाय। वही
इस कार्यक्रम में शामिल हुए सोनभद्र जाते समय सपा के मनोज पांडे तथा बस्ती के पूर्व विधायक व पूर्व मंत्री केके ओझा का तमाम ब्राहमण समाज के लोगों ने   माल्यार्पण कर जमकर स्वागत किया। इस कार्यक्रम में सबसे पहले मनोज पांडे ने भगवान परशुराम के चित्र पर माल्यार्पण किया जिसके बाद कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया। इस दौरान भारी संख्या में लोग एकत्रित हुए वहां पर ब्राह्मणों का खुद माल्यार्पण कर स्वागत किया। मनोज पांडे ने सभा को संबोधित करते हुए भाजपा सरकार द्वारा ब्राह्मणों पर हो रहे अत्याचारों की बात भी कही।
ब्राह्मण1
इस कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मनोज पांडे ने कहा कि इस सरकार में ब्राह्मणों के ऊपर जमकर अत्याचार हो रहा है। ब्राह्मण सम्मान से जीना चाहता है और ब्राह्मण एक ऐसा है जो जिसको चाहे उठा दे जिसको चाहे गिरा दे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि योगी सरकार में जो अधिकारी अपने कर्तव्यों का पालन नहीं कर रहे हैं। वह समय रहते सुधर जाएं नहीं तो अगर उनकी समाजवादी पार्टी की सरकार आएगी तो इन जैसे अधिकारियों को उसकी सजा भी मिलेगी। इसके साथ उन्होंने कहा कि भगवान परशुराम के वंशज को हथियार भी उठाना आता है वह अपने ऊपर हो रहे इस धर्म और जाति को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन के दिन मनाया जाएगा राष्ट्रीय बेरोजगारी दिवस।

इसके साथ ही मनोज पांडे ने भाजपा सरकार के ऊपर निशाना साधते हुए कहा कि सपा सरकार के समय भगवान परशुराम जयंती की सरकारी छुट्टी की घोषणा की गई थी और छुट्टी दी जाती थी लेकिन भाजपा सरकार ने उसको रद्द कर दिया है जिसको भाजपा सरकार को चाहिए कि तुरंत ही शुरू करें। सपा सरकार में 23 हजार संस्कृत टीचरों को रोजी रोजगार दिया गया था। इसके साथ ही इस कार्यक्रम में मनोज पांडे ने समाजवादी पार्टी के वक्तव्य को ब्राह्मण समाज के आगे रखा और उनको समाजवादी पार्टी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने को कहा।

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *