लखनऊ में पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति और रेप पीड़िता पर हुई एक और एफआईआर-सामने आए कई राज

प्रजापति

गायत्री ने करवाया नाम मैनेजर ने मांगी संपत्ति की कीमत तो गायत्री ने बेटे के अपहरण की दी धमकी।

लखनऊ जेल में बंद गायत्री प्रजापति की मुश्किलें लगातार बढ़ रही। गायत्री प्रजापति पर लखनऊ में एक और एफआईआर दर्ज हुई है।गायत्री प्रजापति के साथ गायत्री का बेटा अनिल प्रजापति और रेप पीड़िता भी एफआईआर में नामजद है। गोमती नगर विस्तार में गायत्री प्रजापति समेत तीन लोगों पर नामजद एफआईआर दर्ज हुई है। गायत्री प्रजापति की कंपनियों के डायरेक्टर और मैनेजर बीबी चौबे ने दर्ज कराई है गायत्री प्रजापति पर बेटे के अपहरण की धमकी और जान से मारने की धमकी के साथ ही धोखाधड़ी करने की एफआईआर। वही मैनेजर बीबी चौबे के द्वारा चित्रकूट की रेप पीड़िता के नाम बेनामी सम्पत्ति दर्ज करवाई गई थी। बताया जा रहा है गायत्री प्रसाद प्रजापति के इशारे पर रेप पीड़िता के नाम दर्ज की गई थी बेनामी संपत्ति। इसके साथ ही मैनेजर की भी संपत्ति को गायत्री प्रजापति ने करवाया था नाम जिसके चलते जब मैनेजर ने मांगी संपत्ति की कीमत तो गायत्री देने लगा बेटे के अपहरण की धमकी। मैनेजर का कहना था कि उसको केजीएमयू में बुलाकर गायत्री ने रेप पीड़िता के सामने जान से मारने की धमकी दी है। साथ ही गायत्री प्रजापति और रेप पीड़िता के द्वारा मिलकर मैनेजर बीबी चौबे को जान से मारने की धमकी दी जा रही है। पूरा मामला सामने आने पर पुलिस कमिश्नर के आदेश पर गोमती नगर विस्तार में दर्ज हुई पूर्व खनन मंत्री गायत्री प्रजापति पर दूसरी एफआईआर।

बीच बाजार पत्नी और प्रेमिका में जबरदस्त चली कुश्ती,तमाशबीन रही पब्लिक।

प्रजापति1
वही मैनेजर द्वारा लिखाई गई f.i.r. में बताया गया है कि प्रजापति के ऊपर इल्जाम लगाने वाली चित्रकूट की महिला ने प्रजापति के ऊपर लगाए गए आरोपो को वापस लेने के लिए करोड़ों रुपए की बेनामी संपत्ति अपने नाम कराई तो वहीं कई करोड़ रुपए भी रेप पीड़िता ने चेक के जरिए लिए हैं। मैनेजर ने बताया कि गायत्री प्रजापति के डर के मारे उसने अपनी पत्नी के नाम की जमीन की सेलडीड रेप पीड़िता सविता पाठक के पक्ष में कर दी थी। मंत्री गायत्री प्रजापति ने कहा कि मैंने जो मुकेश के नाम से बेनामी संपत्ति खरीद रखी है उसके बेनामी का कागज मैं तुम्हें दे रहा हूं। उसका नगद पैसा सविता पाठक को दे दो तुम उसे भेज देना क्योंकि ज्यादा जमीन सविता के नाम होगी तो सबको शंका हो जाएगा। मैंने डर बस अपने नाते रिश्तेदारों और अपने मित्रों से उधार लेकर मंत्री के आदमियों को करोड़ों रुपए दिए। जिन्होंने वह रुपए ले जाकर सविता के खाते में डाला अधिकांश रुपया रेप पीड़िता सविता पाठक को एवं उसके भाई राजू चौबे को दिया गया। जिसके सारे प्रमाण मैनेजर ने बताया कि उसके पास है सविता पाठक मंत्री से धन एवं जमीन लेकर पछ द्रोही हो चुकी हैं। और मंत्री के इशारे पर मंत्री जी की भाषा बोल रही है सविता पाठक ने एक मुकदमा राम सिंह राजपूत दिनेश चंद्र त्रिपाठी अधिवक्ता अंशु गॉड और दो अज्ञात अन्य के विरुद्ध दर्ज कराया है। सविता पाठक द्वारा मुझे यह धमकी दी गई कि जो मुकदमा मैंने थाना गौतम पल्ली धारा 376 का है जिसमें राम सिंह राजपूत के विरुद्ध लिखवाया है। उसमें आपका भी नाम 164 में लेकर फंसा दूंगी अन्यथा आप अपनी एवं अपनी पत्नी के नाम की जमीन खरगापुर में रजिस्ट्री किया है उसका कब्जा मुझे दे दे।

प्रेमी की जान बचाने के लिए प्रेमिका ने सोशल मीडिया पर वीडियो बनाकर किया वायरल।

सविता पाठक ने प्रार्थी के भांजे सुनील मिश्रा के मोबाइल नंबर पर अपने मोबाइल से लगातार धमकी भरे संदेश दे रही है कि मामा से कहें दो कि खरगापुर वाली जमीन मुझे दे दे। अभी मेरा 164 का बयान होना बाकी है गायत्री प्रजापति एवं अनिल प्रजापति से जब मैं चेक एवं प्रॉपर्टी के तौर पर दिया गया उधार का रूपया लौटाने की बात की तो गायत्री ने कूट रचित दस्तावेज तैयार कर धोखाधड़ी विश्वासघात करके मुझे कंपनी डायरेक्टर के पद से बिना वेतन भी हटा दिया। साथ ही कई चेकों को मुझसे एक साथ हस्ताक्षर करा लिया। वही गायत्री प्रजापति की कंपनी के मैनेजर ने बताया कि पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति ने केजीएमसी में उसको बुलाया और जब वह वहां पहुंचा तो वहां पर पहले से रेप का आरोप लगाने वाली सविता पाठक व अन्य दो तीन अज्ञात लोग बैठे थे। तब मंत्री गायत्री प्रजापति के मैनेजर ने बताया सभी के सामने गायत्री प्रजापति ने उनको धमकाया और कहा कि तुम्हें और तुम्हारे परिवार को जान से मार दूंगा। और तुम्हें मालूम नहीं है जिस दिन तुम्हारे बेटे का अपरहण करा दिया तो सारी प्रॉपर्टी रुपए लेना भूल जाओगे। मैनेजर ने बताया कि लगातार उसको धमकी मिल रही है।जिसको देखते हुए आज गायत्री प्रजापति के मैनेजर में थाना गोमती नगर विस्तार में दर्ज कराया है मुकदमा। नहीं लगता है कि पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की परेशानियां खत्म होने का नाम ही नहीं ले रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *