मथुरा का श्रीकृष्ण जन्मभूमि और मस्जिद विवाद-साक्ष्य ना होने पर याचिका खारिज

Mathura Temple Mosque Dispute

मथुरा- श्री कृष्ण जन्मभूमि को मुक्त कराने के दायर सिविल सूट के मामला मे फैसला हुआ खारिज। कोर्ट पर टिकी हुई थी सब की नजर  ADJ फास्ट ट्रैक सेकेंड कोर्ट ने सिविल सूट को किया गया रद्द,वादी पक्ष की सभी दलीलों को कोर्ट ने सुनने के बाद मथुरा के श्रीकृष्ण जन्मभूमि और मस्जिद विवाद को साक्ष्य ना होने पर याचिका खारिज कर दी है। सारे तथ्यों को देखते हुए बिना सबूतों के आधार पर कोर्ट ने खारिज कर दिया है।आज कोर्ट में श्री कृष्ण जन्मस्थान को लेकर याचिका कर्ता द्वारा डाली गई याचिका को कोर्ट ने सुनने के बाद सुनाया अपना फैसला। याचिकाकर्ताओं ने जन्म भूमि स्थान की 13.37 एकड़ जमीन पर मांगा था मालिकाना हक। बताया जा रहा है कि मथुरा मे श्री कृष्ण जन्मस्थान और मस्जिद केेेे बीच पहला मुकदमा 1832 में हुआ था। और जब से लगातार मस्जिद श्री कृष्ण जन्म स्थान को लेकर वाद विवाद चला आ रहा है।जिसको देखते हुए आज कोर्ट में श्री कृष्ण जन्मस्थान को लेकर याचिका द्वारा डाली गई याचिका को बिना सबूतों के आधार पर कोर्ट ने खारिज कर दिया है। वही मस्जिद प्रशासन का कहना है की बेवजह इस मामले को तूल दिया जा रहा है और वाद विवाद पैदा किया जा रहा है।

आयोध्या बाबरी मस्जिद विध्वंस मामले में लालकृष्ण आडवाणी समेत सभी 32 आरोपी बरी

Mathura Temple Mosque Dispute

याचिकाकर्ता करुणेश शुक्ला ने कहा कि याचिका को दाखिल करने के लिए न्यायालय को पर्याप्त कारण नहीं मिले हैं। जिसके चलते उन्होंने वाद याचिका को खारिज कर दिया है। अब हम लोग उच्च न्यायालय वाद याचिका दाखिल करेंगे। हमारे पास पूरे साक्ष्य थे परंतु न्यायालय का कहना है कि हमारे पास पर्याप्त कारण और सबूत नहीं है इसलिए याचिका को खारिज किया जाता है।वही एडीजीसी भगत सिंह आर्य ने बताया कि जो साक्ष्य कोर्ट के सामने रखे और बहस करने के बाद जो दलीलें कोर्ट को दी गई थी। उसे सुनने के बाद कोर्ट ने वाद याचिका को खारिज कर दिया, अब हम उच्च न्यायालय में वाद याचिका दाखिल करेंगे ।

हाथरस-गैंगरेप पीड़िता के परिवार से CM ने की बात घर नौकरी और 25 लाख का ऐलान

याचिकाकर्ता ने सिविल जज सीनियर डिविजन मथुरा की अदालत में श्री कृष्ण विराजमान और स्थान श्री कृष्ण जन्म भूमि के नाम से एक याचिका दायर की थी।जिसमें ईदगाह मस्जिद और श्री कृष्ण जन्मभूमि के बीच में समझौते को गलत करार देने की कोर्ट से मांग करते हुए श्री कृष्ण जन्मभूमि यानी की ईदगाह मस्जिद पर मालिकाना हक मांगा गया था। याचिकाकर्ता ने कहा था कि जिस जगह पर श्री कृष्ण जन्मभूमि यानी की ईदगाह मस्जिद है वह आज से 5000 साल पहले कंस कारागार थी। वही ईदगाह मस्जिद प्रशासन की तरफ से कहना है कि गलत तरीके से इस मामले को तूल दे रहे हैं और विवाद बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। मथुरा मे श्री कृष्ण जन्मस्थान और मस्जिद विवाद-बिना सबूतों के आधार पर खारिज।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *