हाथरस गैंगरेप-पोस्टमार्टम रिपोर्ट आई सामने, गर्दन की हड्डी के साथ कई जगह थे फ्रैक्चर

हाथरस pm
हाथरस गैंग रेप मामले में लगातार कोई ना कोई  पुलिस और सरकार द्वारा नया खुलासा किया जा रहा है  जिसको देखते हुए लगातार  विपक्षी पार्टियां और  दलित संगठन सरकार के खिलाफ प्रदर्शन पर आमादा है तो वहीं दूसरी तरफ दरिंदगी की शिकार हुई हाथरस की गैंगरेप पीड़िता के शव की पोस्टमार्टम रिपोर्ट यूपी पुलिस को बुधवार शाम दे दी गई है। बताया जा रहा है कि सफदरजंग अस्पताल के फॉरेंसिक विभाग ने नोएडा के सेक्टर-20 के पुलिस अधिकारी आरके सिंह को  पोस्टमार्टम की रिपोर्ट सीलबंद लिफाफे में दी हैं।

स्मृति ईरानी के बाद हाथरस गैंगरेप घटना को लेकर कांग्रेसी महिलाओं ने सीएम को भेजी चूड़ियां

हाथरस pm1

पीड़ित युवती की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में बताया गया है कि उसकी गर्दन के साथ शरीर के कई हिस्सों में फैक्चर था। इसके साथ ही स्पाइन से गर्दन को जोड़ने वाली हड्डी के फैक्चर होने और टूटे होने की बात सामने आई है। वही हाथरस गैंगरेप पीड़िता के विसरे को फॉरेंसिक विभाग ने सुरक्षित रखा हुआ है और उसे फॉरेंसिक जांच के लिए भेजने की तैयारी भी कर रहे है। इसके साथ ही पीड़िता के वेजाइनल स्वैब के साथ नाखून और भी कई चीजों को सुरक्षित वाराणसी की टीम में रखा है वही देखने में आया कि सफदरगंज अस्पताल के ना तो कोई भी डॉक्टर और ना ही कोई भी पुलिसकर्मी हाथरस कि बिटिया के पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर ज्यादा कुछ बोलने के लिए राजी ही नही हुआ। इसके साथ ही सफदरगंज अस्पताल के डॉक्टरों ने बताया कि जिस वक्त हाथरस की थी पीड़िता को हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था उस समय पीड़िता की हालत बहुत गंभीर थी उसका ब्लड प्रेशर कम था और उसकी हालत बड़ी नाजुक बनी हुई थी इसी के साथ विशेषज्ञों ने कहा कि 15 दिन के अंदर विसरा से अंदाजा लगाया जा सकता है कि पीड़िता के साथ दुष्कर्म हुआ था या नहीं। वही हाथरस गैंगरेेप पीड़िता के पोस्टमार्टम करने में तीन डॉक्टरों की एक मेडिकल टीम को लगाया गया था इसके साथ ही फॉरेंसिक विभाग को पोस्टमार्टम की रिपोर्ट दी गई थी जिसको उत्तर प्रदेश की पुलिस को सीलबंद लिफाफे में बंद करके सौंप दिया गया है।

सम्भल-दलित संगठनों ने देश में चुने 131 सुरक्षित सीटों के सांसदों की निकाली अर्थी 

हाथरस pm1हाथरस गैंग रेप पीड़िता मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद उसके कई जगह से हड्डियां टूटे होने को देखते हुए इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि अपराधियों ने किस दरिंदगी के साथ गैंग रेप किया था। जिसके चलते पीड़िता के गर्दन की हड्डियां टूट गई थी।आपको बताते चलें कि हाथरस गैंगरेप मामले में लगातार विपक्षी पार्टियां और दलित समाज प्रदर्शन कर रहा है। वहीं दूसरी तरफ कल सरकार की तरफ से कहा गया था कि पीड़िता के साथ कोई भी रेप नहीं हुआ है। वही गैंगरेप पीड़िता को न्याय दिलाने के लिए और उचित मुआवजा देने के लिए लोग प्रदर्शन कर रहे हैं तो वहीं दूसरी तरफ सफदरगंज हॉस्पिटल की पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद से इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि हाथरस की बिटिया ने किस कदर दर्द झेला होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *