हाथरस गैंगरेप-सांसद संजय सिंह पर फेंकी गई स्याही- सीएम योगी जी आप “ठाकुर नहीं कायर हो”

Ink
हाथरस-गैंगरेप की शिकार 19 साल की मृतक दलित लड़की के परिवार से मिलने हाथरस गए आम आदमी पार्टी (AAP) के सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) पर स्याही फेंकी गई. खबर के मुताबिक संजय सिंह जैसे ही मीडिया कर्मियों को संबोधित करने वाले थे वैसे ही एक शख्‍स ने उनके ऊपर स्याही फेंक दी साथ ही इंक फेंकने वाला अभियुक्त “पीएफआई के दलालों वापस जाओ” का नारा भी लगा रहा था.यह वही जिसको कहा जाता है कि पॉप्‍यूलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) एक चरमपंथी लोगो का संगठन है। जिस पर नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के खिलाफ देश भर हुए विरोध-प्रदर्शन की फंडिंग का भी आरोप है. स्याही फेकने जाने के बाद सांसद संजय सिंह ने मुख्यमंत्री योगी को ट्वीट करते हुए कहा कि आप ठाकुर नहीं कायर हो

रामपुर-लड़की ने अपने परिवार को नशीला पदार्थ देकर किया बेहोश और प्रेमी संग फरार

Ink sanjay
हाथरस गैंगरेप पीड़िता परिवार से मिलकर वापस लौट रहे संजय सिंह पर स्याही फेंके जाने की इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया और इंटरनेट पर देखते ही देखते जमकर वायरल हो गया. जानकारी के मुताबिक दीपक नाम के शख्‍स ने आम आदमी पार्टी के संजय सिंह पर स्‍याही फेंकी. हालांकि बताया गया की इस दौरान संजय सिंह के साथ वहां पर मौजूद एक आप पार्टी के कार्यकर्ता ने आरोपी दीपक को पकड़ लिया और पुलिस को सौप दिया. फिलहाल पुलिस उससे पूछताछ कर रही है.सांसद संजय सिंह ने कहा कि चाहे जितनी लाठी बरसा लो गुड़िया को न्याय दिला कर रहेगे। हाथरस गैंगरेप पीड़ित परिवार से मिलकर लौट रहे संजय सिंह ने सीएम को कहा कि ठाकुर नही कायर है आप.वही स्याही फेके जाने से गुस्‍सा जाहिर करते हुए संजय सिंह ने ट्विटर पर ट्वीट कर उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ को कायर कहा है. उनके ट्वीट के मुताबिक, “हाथरस में कायराना हरकत पुलिस अपनी सुरक्षा में गुड़िया के घर लेकर गई लौटते समय हमला हुआ MLA राखी बिडलान अजय दत्त व फ़ैसल लाला साथ थे, योगी जी आप “ठाकुर नही कायर हो” मुझ पर चाहे जितने मुक़दमे लिखो जेल भेजो लाठी चलाओ या हत्या करवा दो लेकिन गुड़िया के लिये न्याय की लड़ाई जारी रहेगी

डीएनडी टोल प्लाजा पर राहुल गांधी प्रियंका गांधी के काफिले पर पुलिस ने किया लाठीचार्ज

उधर, उत्तर प्रदेश की सुरक्षा एजेंसियों ने दावा किया है कि हाथरस के बहाने यूपी में जातीय दंगे भड़काने की साजिश रची गई थी. रिपोर्ट के मुताबिक एक फर्जी वेबसाइट रातों रात बनायी गयी और इसके ज़रिए जातीय दंगे कराने की साजिश रची गई. खबर के मुताबिक PFI, SDPI जैसे संगठन जो नागरिकता कानून के खिलाफ हिंसा में शामिल थे उन्हीं संगठनों ने यूपी में भी हिंसा फैलाने के लिए वेबसाइट तैयार कराने में अहम भूमिका निभाई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *