Home देश सड़क में खुले मौत के गड्ढे- तीन लोगों की मौत के बाद...

सड़क में खुले मौत के गड्ढे- तीन लोगों की मौत के बाद भी नहीं जागा प्रशासन-खुले मेनहोल

मुरादाबाद की सड़कों में नगर निगम की लापरवाही के कारण बीच सड़क में सफ़ाई के बाद तोड़फोड़ कर छोड़े गये खुले मैनहोल हादसों को दावत दे रहे हैं, इसके साथ ही सड़कों में भी गहरे-गहरे गड्ढे हैं, स्थानीय लोग नगर निगम के अधिकारियों से लेकर मेयर व पार्षद से इन समस्याओं की शिकयत करते-करते थक गये हैं, लेकिन उसके बावजूद भी इन मौत के खुले गड्ढों को सही नही किया जा रहा है, कुछ वर्ष पहले प्रिंस रोड के इंद्रा चौक चौराहे पर ऐसे ही एक खुले मैनहोल में गिरने से एक महिला व उसे बचाने के लिये कूदे दो युवकों सहित 3 लोगो की डूबने से मौत हो गई थी, इस हादसे के बाद भी नगर निगम ने कोई सबक़ नही लिया, मुरादाबाद के भाजपा के मेयर विनोद अग्रवाल भी मीडिया से बात करते हुए कोविड 19 के कारण बजट न होने के साथ ही केंद्र सरकार पर ही नमामि गंगा योजना व गैस कंपनी को सड़क तोड़ने का लाइसेंस देने का उल्टा आरोप लगा दिया।

बदायूँ- रिश्तेदार ने किया नाबालिग दलित बच्ची के साथ दुष्कर्म पुलिस ने किया गिरफ्तार

गड्ढ़े
तीन मौतों के बाद भी नहीं जागा प्रशासन सड़क पर मौत के गड्ढे और खुले हैं मेनहोल मुरादाबाद जब स्मार्ट सिटी में शामिल हुआ तो मुरादाबाद के लोगों को राहत मिली के मुरादाबाद की गड्ढा युक्त सड़कें गड्ढा मुक्त हो जाएंगी और इसके साथ ही जगह-जगह हादसों को दावत देते मौत के गड्ढे, यानी खुले मैनहोल भी सही हो जाएंगे, लेकिन उनकी खुशी उस वक्त गायब हो गई जब स्मार्ट सिटी बनने के बाद मुरादाबाद की सड़कों की हालत और ज्यादा खराब होने लगी, मेयर साहब का कहना है कि जल निगम और गैस पाइप लाइन डाल रही कंपनी सड़कों को खोद रही है, जिस कारण सड़कों में गड्ढे हैं, इसका विरोध जताकर उन्होंने केंद्र व राज्य सरकार को पत्र भी लिखा है, जल्द ही सड़कों को सही करा दिया जायेगा, खुले मैनहोल को सही कराने के नाम पर मेयर साहब कोविड 19 के चलते नगर निगम में बजट न होने की बात कही, मेयर साहब का कहना है जैसे ही बजट आएगा वो सही करा देंगे। अब देखना होगा कि आखिर मुरादाबाद के लोगो को कब इस परशानी से निजात मिलेगी।

छात्र-छात्राओं से फीस जमा कर कोचिंग सेंटर ने बंद की अपनी दुकान छात्र-छात्रा पहुंचे थाने

वहीं दूसरी तरफ अगर बात की जाए सरकार की तो सरकार का लगातार यही कहना है कि सड़कों पर उनके द्वारा गड्ढे भरे जा रहे हैं और स्मार्ट सिटी की ओर हम लोग बढ़ रहे हैं। लेकिन अगर हकीकत देखें सड़क के तो सड़क पर जगह-जगह मौत के गड्ढे खुले हुए नजर आ रहे है। इसके अलावा तीन मौतों के बाद भी नहीं जागा प्रशासन सड़क पर मौत के गड्ढे और खुले हैं मेनहोल बावजूद इसके किसी भी सरकारी अधिकारी की नजर इन गड्ढों पर नहीं पड़ती है।जबकि बताया जाता है कि इन सड़कों और इन्हीं गड्ढों के बीच होकर सरकारी अधिकारियों की गाड़ियां भी गुजरा करती हैं। लेकिन इन मौत के गड्ढों से डेली स्थानीय लोगों को खोना पड़ता है रूबरू।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

तुर्की फ्रांस विवाद, रास्ता भटक चुके हैं मैक्रों, बोले एर्दोगन ट्विटर पर हुआ ट्रेंड #BoycottFrance

तुर्की फ्रांस विवाद, रास्ता भटक चुके हैं मैक्रों, बोले एर्दोगन ट्विटर पर हुआ ट्रेंड #BoycottFrance तुर्की एर्दोगन बोले फ्रांस के राष्ट्रपति मैक्रों को...

बड़ौत में व्यापारी का हुआ अपहरण, मुजफ्फरनगर  पुलिस हुई अलर्ट 

बड़ौत में व्यापारी का हुआ अपहरण  मुजफ्फरनगर पुलिस हुई अलर्ट मुजफ्फरनगर के बड़ौत में व्यापारी का हुआ अपहरण पुलिस हुई अलर्ट लगाया चेकिंग अभियान मुजफ्फरनगर...

जालौन के कोंच राम रावण का भीषण युद्ध, मारा गया दशानन

जालौन के कोंच राम रावण का भीषण युद्ध, मारा गया दशानन जालौन के कोंच मे 168 वर्ष पुरानी रामलीला में राम रावण का...

विधवा ने लगाई CM से न्याय की गुहार-मुख्तार अंसारी के करीबियों पर जमीन कब्जा करने का लगा आरोप

विधवा ने न्याय की गुहार-मुख्तार अंसारी के करीबियों पर जमीन कब्जा करने का लगा आरोप विधवा ने दी आत्महत्या की धमकी मुख्तार अंसारी...

Recent Comments

%d bloggers like this: