करणी सेना के अध्यक्ष से देवबंदी उलेमा नाराज-हिन्दू और मुसलमान को लड़वाने का कर रही….

उलेमा

वाराणासी- करणी सेना के अध्यक्ष राजपाल ने एक बयान दिया है कि जिस तरीके से बाबरी मस्जिद को तोड़ा गया उसी तरीके से विश्वनाथ मंदिर के बराबर में ज्ञानवापी ढांचा है उसको तोड़ देना चाहिए। अगर सरकार ऐसा नहीं करती तो उसको करणी सेना तोड़ेगी। साथ ही कहा कि जो लोग यहां डरे हुए हैं वह भारत छोड़कर चले जाएं। उनके इस बयान पर देवबंदी उलेमा मुफ्ती असद कासमी ने कड़ा एतराज जताते हुए कहा कि ऐसे लोग देश का माहौल खराब करना चाहते हैं। देश के अमन चैन को बर्बाद कर देना चाहते हैं हम सुप्रीम कोर्ट और केंद्र सरकार से यह मांग करते हैं कि ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के साथ साथ ऐसी संस्थाओं को बंद करने का आदेश देना चाहिए जो देश का माहौल खराब करना चाहती हो।

गोण्डा -मंदिर भूमि विवाद को लेकर बदमाशों ने मंदिर मे घुसकर पुजारी को मारी गोली

देवबन्द

करणी सेना के अध्यक्ष से देवबंदी उलेमा ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि देखिए सबसे पहले तो मैं बता दूं करणी सेना के जो अध्यक्ष है राज्यपाल हमेशा ही ऐसे ही बयान उल्टे सीधे देते हैं जो देश के खिलाफ बयान होते हैं। विवादित बयान होते हैं तोड़ने वाले बयान होते हैं यह लोग कभी नहीं चाहते कि देश के अंदर अमन-चैन हो हमारा देश तरक्की करें और देश के अंदर भाईचारा बना रहे। यह सिर्फ और सिर्फ धर्म की राजनीति करना जानते हैं मंदिर और मस्जिद के नाम पर लोगों को लडवाना जानते हैं। हम सुप्रीम कोर्ट से भी और केंद्र सरकार से भी अपील करते हैं कि ऐसे लोगों की जबान के ऊपर लगाम लगाया जाए जो देश के माहौल को खराब करने का काम कर रहे हैं। देश के अमन चैन को बर्बाद करने का काम कर रहे हैं जब राम मंदिर और बाबरी मस्जिद का मुद्दा था तमाम दुनिया ने देखा कि किस तरह के हालात खराब हुए। क्या करणी सेना के अध्यक्ष इस मुद्दे को उठाकर फिर दोबारा हिंदुस्तान का माहौल खराब करना चाह रहे हैं। क्या हिंदुस्तान में खून खराबा कराना उनका मकसद है तो ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई होनी चाहिए जो लोगों को भड़काने का काम करते हैं देश का माहौल खराब करना चाहते हैं।

हदोई-5 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ टीचर के भाई ने किया रेप, पुलिस ने किया गिरफ्तार

करणी सेना के अध्यक्ष से को जवाब देते हुए देवबंदी उलेमा जहा नाराज हुए तो वही कहा देश छोड़कर हम क्यों चले जाएं इस देश में हमारे बड़ों ने कुर्बानियां दी हैं।इस जमीन की मिट्टी को खोदकर देखेंगे तो इसमें हमारे बड़ों का खून शामिल है। हम इस देश से मोहब्बत करते हैं और देश को किसी कीमत पर तोड़ने नहीं देंगे। जो देश को तोड़ने का काम कर रहे हैं उसके खिलाफ अभियान शुरू करेंगे और सुप्रीम कोर्ट और सरकार से मांग करते हैं कि जो भी देश को तोड़ने वाले हैं उनके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करें। केंद्र सरकार को भी और सुप्रीम कोर्ट को भी ऐसी संस्थाएं हैं जो देश के अंदर का माहौल खराब कर रही हैं ऐसे लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई के साथ ऐसी संस्था के ऊपर बंद कर देना चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *