Home उत्तर प्रदेश स्वास्थ विभाग की खुली पोल-पोस्टमार्टम हाउस रिक्शे पर लाश ले जाने को...

स्वास्थ विभाग की खुली पोल-पोस्टमार्टम हाउस रिक्शे पर लाश ले जाने को मजबूर परिवार

बदायूँ-अस्पताल से पोस्टमार्टम हाउस के लिए रिक्शे पर ढोई जा रही लाशे बदायूँ जिला अस्पताल में गरीबों को नहीं मिलते शव वाहन, एंबुलेंस या अन्य कोई सरकारी वाहन जिसकी वजह से परिवार वालों द्वारा शव को रिक्शे पर रखकर पोस्टमार्टम हाउस ले जाने से स्वास्थ्य विभाग की हो रही किरकिरी रिक्शे पर लाश सिस्टम के मुंह् पर है करारा तमाचा । रिक्शे पर पोस्टमार्टम हाउस में ले जाने को मजबूर जहा परिवार दिखा तो वही स्वास्थ विभाग की सारे दावों की कलाई खुलती भी नजर आई। स्वास्थ विभाग द्वारा कोई भी साधन ना मिलने के कारण आखिरकार बताया जा रहा है कि मृतक परिवार के लोगों को मृतक का शव अस्पताल से पोस्टमार्टम हाउस तक ले जाने के लिए रिक्शे का सहारा लेना पड़ा। जिसने भी रिक्शे के ऊपर शव को ले जाते हुए देखा उसने कहीं ना कहीं साथ स्वास्थ्य विभाग के ऊपर सवालिया निशान भी खड़े किए।

वकील बेटे ने माँ बाप की गोली मारकर हत्या,रिश्ते हुए शर्मसार-बरेली

 Lash

बदायूँ मे जहा एक तरफ स्वास्थ विभाग के दावों को खोखला साबित करते हुए पोस्टमार्टम हाउस रिक्शे पर लाश ले जाने को मजबूर दिखा मृतक का परिवार वजीरगंज कस्बे से 50 वर्षीय छोटे लाल साइकिल से अपने गांव धौरेरा जा रहे थे। वजीरगंज में भारत पेट्रोल पंप के के पास एक अज्ञात फोर व्हीलर में मृतक छोटे लाल को टक्कर मार दी थी जिसमें वह बताया जा रहा है काफी गंभीर रूप से घायल हो गए थे जहां पर रात्रि 11:00 बजे के बाद उनको अस्पताल लाया गया और इलाज के दौरान दम तोड़ दिया दूसरे दिन परिवार वाले अस्पताल की मर्चरी से मृतक के शव को पोस्टमार्टम कराने के लिए पोस्टमार्टम हाउस ले जाने के लिए अधिकारी और स्वास्थ्य विभाग के आगे रोता और गिड़गिड़ाते रहा लेकिन कोई भी अधिकारी का दिल नहीं पसीजा। पोस्टमार्टम के लिये ले जाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की खुशामद करते रहे रोते रहे, गिडगिड़ाते रहे, स्वास्थ्य अधिकारी नहीं पसीजे, इस परिवार को शव वाहन, एंबुलेंस या अन्य कोई वाहन उपलब्ध नहीं कराया। 

सांसद आजम खान और उनकी पत्नी को मिली जमानत दो जन्म प्रमाण पत्र मामले में

लिहाजा परिवार वालों ने रिक्शे पर शव रखा और साथ में खुद बैठ कर पोस्टमार्टम हउस पहुंचे। सीएमओ और सीएमएस इस मामले में अभी तक खामोश हैं, उनकी तरफ से कोई बयान नहीं आया है। कुमार प्रशांत जिला अधिकारी बदायूं ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कहा कि जिला अस्पताल में शव वाहन की सुविधा उपलब्ध है मैं जांच कर लूंगा की किन कारणों से इस व्यक्ति को शव वाहन की सुविधा उपलब्ध नहीं हो सकी साथ ही मौजूदा सीएमएस को नोटिस जारी किया जाएगा। वहीं जहां एक तरफ लाश को रखकर रिक्शे पर ले जाने की घटना से स्वास्थ विभाग की खुली पोल तो वही अधिकारियों की लापरवाही के चलते पोस्टमार्टम हाउस रिक्शे पर लाश ले जाने को मजबूर परिवार।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

राष्ट्रीय सामाजिक संगठन ने गुस्ताख ए रसूल के सिलसिले में फ्रांस के राष्ट्रपति की जलाई तस्वीर

लखनऊ -गुस्ताख ए रसूल के सिलसिले में फ्रांस के राष्ट्रपति की जलाई गई तस्वीरें राष्ट्रीय सामाजिक संगठन ने गुस्ताख ए रसूल के सिलसिले...

जश्न ईद मिलादुन्नबी का नही निकला ऐतिहासिक जुलूस, जॉइंट कमिश्नर ने लखनऊ की जनता का अदा किया धन्यवाद

जश्न ईद मिलादुन्नबी का नही निकला ऐतिहासिक जुलूस, जॉइंट कमिश्नर ने लखनऊ की जनता का अदा किया धन्यवाद जॉइंट कमिश्नर ने लखनऊ की...

पूरी दुनिया समेत भारत मे भी, पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब, की शान में गुस्ताखी को लेकर प्रदर्शन

पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब, की शान में गुस्ताखी को लेकर देवबंद में जोरदार प्रदर्शन पूरी दुनिया समेत भारत मे भी, पैगंबर हजरत मोहम्मद...

यूपी में कोरोना जांच हुई 40 फ़ीसदी तक सस्ती- ₹600 में होगी अब जांच, कई जांच हुई मुफ्त

यूपी में कोरोना जांच हुई 40 फ़ीसदी तक सस्ती- ₹600 में होगी अब जांच, कई जांच हुई मुफ्त ₹600 में कोरोना कि केजीएमयू...

Recent Comments

%d bloggers like this: