दलित लड़कियों पर एसिड फेंके जाने मामला-पीड़ित परिवार की अखिलेश यादव ने की आर्थिक मदद

दलित

खबर गोंडा से हैं जहां आज तीन दलित बहनों पर एसिड अटैक किया गया था  इस हमले में बड़ी बहन गंभीर रूप से झुलसी गई थी। वारदात की जानकारी मिलते ही सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव के निर्देश पर पूर्व मंत्री पंडित सिंह जिला अस्पताल पहुंचे और पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उनका हालचाल लिया। पीड़ित परिवार को एक लाख रुपये के नकद सहायता भी उपलब्ध कराई और उन्हे हर संभव मदद का भरोसा भी दिलाया। बताया जा रहा है कि देर रात तीनों बहने अपने कमरे में सो रही थी तभी कोई अचानक कमरे में आ गया और दलित बहनों के ऊपर तेजाब यानी कि एसिड फेंक कर फरार हो गया पीड़ित लड़कियों के पिता ने आरोप लगाया है कि घर के बाहर से बल्ली लगाकर आरोपी अंदर आया और सोती हुई लड़कियों के ऊपर एसिड फेंक कर फरार हो गया वहीं पुलिस ने सारा मामला संज्ञान में लेते हुए अपराधी की धरपकड़ में जुट गई है।

गोंडा-दलित परिवार की तीन नाबालिग बेटियों पर तेजाब फेंककर आरोपी फरार-सोते समय फेका

एसिड

वहीं महिलाओं के खिलाफ बढ़ते हुए अपराधों पर समाजवादी पार्टी के पूर्व मंत्री विनोद कुमार सिंह उर्फ पंडित सिंह ने भाजपा सरकार पर हमला बोला है। वारदात की जानकारी मिलते ही पूर्व मंत्री पंडित सिंह जिला अस्पताल पहुंचे और पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उनका हालचाल लिया। दलित लड़कियों पर एसिड फेंके जाने मामला-पीड़ित परिवार की अखिलेश यादव ने आर्थिक मदद भी की जहा पीड़ित परिवार को एक लाख रुपये के नकद सहायता भी उपलब्ध कराई और उन्हे हर संभव मदद का भरोसा भी दिलाया। भाजपा सरकार पर हमलावर पूर्व मंत्री पंडित सिंह ने कहा कि बेटियों पर तेजाब फेंकने का घटना बेहद दुर्भाग्यपूर्ण है। जिस तरह से प्रदेश मे महिलाओं के अपराध बढ़े हैं वह सिर्फ सरकार की नाकामी को दर्शाता है। अगर पुलिस प्रशासन ने आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी नहीं की तो समाजवादी पार्टी सड़क पर उतर कर पीड़ित परिवार को मदद करेगी।

पुलिस की वर्दी पहने बदमाशों ने विद्युत कर्मचारियों को बंधक बनाकर की लूट-शामली

दलित लड़कियों पर एसिड फेंके जाने मामले मे पीड़ित परिवार की अखिलेश यादव ने आर्थिक मदद की है तो वहीं दूसरी तरफ पीड़ित परिवार से मिलने आए हुए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं का कहना था कि अगर जल्द ही दलित लड़कियों पर एसिड फेंके जाने वाले अपराधी को गिरफ्तार नहीं किया जाएगा तो वहां लोग धरना प्रदर्शन भी करेंगे इसके साथ ही बताया जा रहा है खुद अखिलेश यादव ने इस मामले को संज्ञान में लेते हुए पीड़ित परिवार की हर मदद करने का आश्वासन भी दिया है दूसरी तरफ दलित लड़कियों पर एसिड फेंके जाने की घटना से और उत्तर प्रदेश में घट रही महिलाओं पर घटनाओं को देखते हुए कानून व्यवस्था पर सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *