Home कानून व्यवस्था सीएम आवास तक भूतपूर्व सैनिकों द्वारा निकाला तिरंगा मार्च-पुलिस ने रोका

सीएम आवास तक भूतपूर्व सैनिकों द्वारा निकाला तिरंगा मार्च-पुलिस ने रोका

भूतपूर्व सैनिकों ने अपनी मांगों को लेकर सीएम आवास तक तिरंगा मार्च निकालने का किया प्रयास पुलिस ने रोका। राजधानी लखनऊ में आज जवाहर भवन से 52 भूतपूर्व सैनिकों ने अपनी ग्राम विकास अधिकारी के पद पर नियुक्ति पत्र ना मिलने और सैनिकों के साथ हो रहे पुलिस के द्वारा उत्पीड़न को लेकर आज एक तिरंगा मार्च जवाहर भवन से सीएम आवास तक निकालने की कोशिश की जिस दौरान पुलिस ने भूतपूर्व सैनिकों को बिच रास्ते ही में रोक दिया। और तिरंगा मार्च को मुख्यमंत्री आवास तक निकालने से मना कर दिया। प्रदर्शन कर रहे भूतपूर्व सैनिकों ने बताया कि लगातार सैनिकों के ऊपर पुलिस द्वारा उत्पीड़न किया जा रहा है। और वह लोग लगातार इस बारे में सरकार को आगाह कर रहे हैं। लेकिन उसके बावजूद भी सैनिकों पर पुलिसिया अत्याचार थमने का नाम नहीं ले रहा है। जिसके चलते आज उन्होंने तिरंगा मार्च निकालने की कोशिश की लेकिन उनको बीच रास्ते में ही पुलिस द्वारा रोक दिया गया।

गुड़गांव-मुलायम सिंह यादव कोरोना पॉजिटिव, मेदांता हॉस्पिटल में किया गया नेताजी को भर्ती

Sainik

सीएम आवास तक भूतपूर्व सैनिकों द्वारा तिरंगा मार्च निकालने का प्रयास किए जाने के बाद पुलिस विभाग में भी हड़कंप मच गया। आनन-फानन में पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सभी भूतपूर्व सैनिकों को तिरंगा मार्च निकालने से मना कर दिया। प्रदर्शन कर रहे सैनिकों का कहना था कि हम लोगों ने अपनी मांगों और हो रहे अत्याचारों को लेकर सरकार को कई बार आगाह किया है।सरकार को चाहिए कि हमारी मांगों को देखते हुए तुरंत उस पर कार्यवाही करें वही शांति पूर्वक प्रदर्शन कर रहे सैनिकों ने कहा कि गाजीपुर समेत कई जगहों पर सैनिकों का पुलिस द्वारा उत्पीड़न किया जा रहा है। प्रदर्शन कर रहे सैनिकों ने बताया कि गाजीपुर में सेना में कार्यत सैनिक अपने घर जब आया तो वहां पर उसको आठ-दस पुलिस वालों ने जमकर पीटा जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। जिसके बाद हम सैनिकों ने इसकी शिकायत मुख्यमंत्री और डीएम से की थी। लेकिन इस मामले में सिर्फ नाम मात्र की ही कार्यवाही की गई इस मामले में जो पुलिस वालों को दंड मिलना चाहिए था और निष्पक्ष जांच होनी चाहिए थी वहां नहीं की गई है।

गोंडा-तीन बहन पर एसिड अटैक मामला-आरोपी इनकाउंटर पर सवाल बन्द की बाजार

इसके साथ ही भूतपूर्व सैनिकों द्वारा सीएम आवास तक तिरंगा मार्च निकालने के दौरान जहां पुलिस वालों ने उनको रोक दिया। तो वही भूतपूर्व सैनिकों ने बताया कि रायबरेली में और उन्नाव में भी सैनिकों पर पुलिस द्वारा अत्याचार किया गया है। यही नहीं देश के अलग-अलग कोनों में सैनिकों के ऊपर पुलिसिया अत्याचार लगातार जारी है। जिसको लेकर आज हम लोगों ने सीएम आवास तक तिरंगा मार्च निकालने का प्रयास किया लेकिन हम लोगों को रोक दिया। इसलिए सरकार से हम लोगों का निवेदन है कि इस पर ध्यान दें और कोई ऐसा नियम और कायदा सरकार पास करें कि पुलिस द्वारा हो रहे उत्पीड़न से सैनिक बच सके और उनका उत्पीड़न ना हो। गलतियां हो सकती हैं लेकिन उसकी निष्पक्ष जांच होनी बहुत जरूरी है जो कि नहीं होती है। जिस तरीके से उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था पर लगातार सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं। वहीं दूसरी तरफ भूतपूर्व सैनिकों द्वारा किया गया यह तिरंगा मार्च कहीं ना कहीं सरकार के कानून व्यवस्था पर भी सवालिया निशान खड़े करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

राष्ट्रीय सामाजिक संगठन ने गुस्ताख ए रसूल के सिलसिले में फ्रांस के राष्ट्रपति की जलाई तस्वीर

लखनऊ -गुस्ताख ए रसूल के सिलसिले में फ्रांस के राष्ट्रपति की जलाई गई तस्वीरें राष्ट्रीय सामाजिक संगठन ने गुस्ताख ए रसूल के सिलसिले...

जश्न ईद मिलादुन्नबी का नही निकला ऐतिहासिक जुलूस, जॉइंट कमिश्नर ने लखनऊ की जनता का अदा किया धन्यवाद

जश्न ईद मिलादुन्नबी का नही निकला ऐतिहासिक जुलूस, जॉइंट कमिश्नर ने लखनऊ की जनता का अदा किया धन्यवाद जॉइंट कमिश्नर ने लखनऊ की...

पूरी दुनिया समेत भारत मे भी, पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब, की शान में गुस्ताखी को लेकर प्रदर्शन

पैगंबर हजरत मोहम्मद साहब, की शान में गुस्ताखी को लेकर देवबंद में जोरदार प्रदर्शन पूरी दुनिया समेत भारत मे भी, पैगंबर हजरत मोहम्मद...

यूपी में कोरोना जांच हुई 40 फ़ीसदी तक सस्ती- ₹600 में होगी अब जांच, कई जांच हुई मुफ्त

यूपी में कोरोना जांच हुई 40 फ़ीसदी तक सस्ती- ₹600 में होगी अब जांच, कई जांच हुई मुफ्त ₹600 में कोरोना कि केजीएमयू...

Recent Comments

%d bloggers like this: