Home ताज़ा खबरें जालौन के कोंच राम रावण का भीषण युद्ध, मारा गया दशानन

जालौन के कोंच राम रावण का भीषण युद्ध, मारा गया दशानन

  • जालौन के कोंच राम रावण का भीषण युद्ध, मारा गया दशानन

  • जालौन के कोंच मे 168 वर्ष पुरानी रामलीला में राम रावण का भीषण युद्ध, मारा गया दशानन

आज हम आपको राम रावण के ऐसे भीषण युद्ध के बारे में बताने जा रहे है जो आपने पहले कभी नहीं सुना होगा। हम बात कर रहे हैं जालौन के कोंच में होने वाली 168 वर्ष पुरानी ऐतिहासिक रामलीला की जिसमें आज राम रावण के भीषण युद्ध का मंचन ऐतिहासिक धनुताल मैदान में किया गया। जिसको देखने के लिए उत्तर प्रदेश शासन के पूर्व मंत्री दया शंकर वर्मा भी मौजूद रहे। इस बार कोविड 19 के कारण ज्यादा भीड़ तो नही जुटी लेकिन कुछ सैकड़ा लोगों की भीड़ मौजूद रही। जालौन के कोंच मे एक मैदान में सैकड़ों लोग इकट्ठा होते हैं और गाड़ियों घोड़ा गाड़ियों राम रावण के बीच युद्ध का दृश्य को खुद दोहराते है। राम रावण के युद्ध मे मैदान में एक तरफ राम दल तो दूसरी तरफ रावण की विशाल लंका होती है। जिसके सबसे ऊपर मंजिल पर सीता जी विराजमान रहती हैं।लक्ष्मण और हनुमान रथ पर बैठकर मेघनाथ से युद्ध करते हैं। इसके बाद मेघनाथ द्वारा लक्ष्मण पर शक्ति प्रहार किया जाता है जिससे लक्ष्मण जी मूर्छित हो जाते हैं।

कश्मीर की पूर्व सीएम महबूबा मुफ्ती के बयान से नाराज-हिंदूवादी नेता ने फूंका पुतला

जालौन
जालौन के कोंच राम रावण का भीषण युद्ध मे  जहां एक तरफ सैकड़ों की संख्या में लोग इकट्ठा होते हैं तो वहीं इस बार बहुत ही कम भीड़ इकट्ठा हुई और मैदान में एक बार फिर से दशहरे को देखते हुए सभी दृश्यों को दोहराया गया। इसी कड़ी में आगे जब हनुमान जी संजीवनी बूटी लेकर आते हैं और फिर लक्ष्मण मेघनाथ का भीषण युद्ध होता है। जिसमें मेघनाथ मारा जाता है इसके बाद रावण मैदान में पहुंचता है। जिसको राम और लक्ष्मण रथ पर सवार होकर युद्ध के दौरान रावण को मार देते हैं। जालौन के कोच में इस लीला में रावण और मेघनाथ की विशालकाय पुतलो को बनाये जाने की पऱपरा है। लेकिन इस बार इस युद्व को प्रतीकात्मक दिखाने के लिये केवल रावण और मेघनांथ के तीन से पांच फिट के पुलते ही बनाये गये थे। लोगों की सहायता से मैदान में दौड़ाया जाता है और वह राम लक्ष्मण से युद्ध भी करते हैं। जालौन के कोंच का ऐसा साहित्य शायद कहीं आपको देखने को मिलेगा। वही युद्ध के अंत में हनुमान जी रथ पर सवार होकर सीता जी को लंका से वापस भगवान राम के पास ले आते हैं राम रावण के पुतलों में जनता द्वारा आग लगाकर फूंक दिया जाता है ।

यह भी पढ़े :-विधवा ने लगाई CM से न्याय की गुहार-मुख्तार अंसारी के करीबियों पर जमीन कब्जा करने का लगा आरोप

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

गोदी मीडिया को किसानों के खिलाफ फेक प्रोपेगेंडा चलाना पड़ा महंगा-किसानों ने जलील कर भगाया

गोदी मीडिया को किसानों के खिलाफ फेक प्रोपेगेंडा चलाना पड़ा महंगा-किसानों ने जलील कर भगाया फेक प्रोपेगेंडा चला रहे टीवी चैनलों के रिपोर्टरों...

अमेठी-जमीन के चंद टुकड़ों के खातिर भतीजे और भाई ने अपने चाचा का किया कत्ल

अमेठी-जमीन के चंद टुकड़ों के खातिर भतीजे और भाई ने अपने चाचा का किया कत्ल भाई-भतीजे ने जमीन के चंद टुकड़ों के खातिर बीच...

Love jihad-लव जिहाद पर पहला मुकदमा हुआ बरेली में दर्ज-पिता ने दी तहरीर

Love jihad-लव जिहाद पर पहला मुकदमा हुआ बरेली में दर्ज-पिता ने दी तहरीर लव जिहाद पर बरेली में दर्ज हुआ पहला केस-नया अध्यादेश...

राजधानी में आइटम क्वीन राखी सावंत कुछ इस अंदाज में आई नजर-तवायफ के सेट पर

राजधानी में आइटम क्वीन राखी सावंत कुछ इस अंदाज में आई नजर-तवायफ के सेट पर लखनऊ मे तवायफ के सेट पर कुछ इस...

Recent Comments

%d bloggers like this: