Home घरेलू उपाय पीरियड्स फ्लू क्या है? periods Flu kyu hota hai-इसका घरेलू उपाय

पीरियड्स फ्लू क्या है? periods Flu kyu hota hai-इसका घरेलू उपाय

0
  • पीरियड्स फ्लू क्या है? periods Flu kyu hota hai-इसका घरेलू उपाय

  • periods flu symptoms-पीरियड्स फ्लू क्यों होता है? कैसे करे इसका इलाज

महिलाओं को होने वाले पीरियड्स के दौरान या होने से पहले Flu आने लगता है तो इससे घबराने की जरूरत नही है क्योंकि इस तरह से कुछ महिलाओं को शिकायत होती है। Periods flu kya hai कुछ महिलाओं को बुखार जुकाम सर्दी जैसे periods symptoms आते है। जिसको आम भाषा मे पीरियड बुखार भी कहते है।

पीरियड्स से मत हो परेशान करे यह उपाय

Periods flu पीरियड्स फ्लू मे आम तौर पर जो periods symptoms नजर आते है वो उल्टी और मतली आना है। जिसकी वजह से Girls समझती है कि वोह प्रेग्नेंट हो गई है जिससे वोह घबरा जाती है। लेकिन इससे घबराने की जरूरत नही है। आप प्रेंग्नेंसी टेस्ट घर मे करके इसकी जानकारी कर सकती है। वैसे कुछ घरेलू उपाय के जरिए इसके लक्षण को कम किया जा सकता है।

Periods flu meaning और क्या है कारण

डॉक्टर मंजू चौरसिया जो कि राजधानी लखनऊ के सरकारी हॉस्पिटल की स्त्री रोग विशेषज्ञ है उनका कहना है कि पीरियड फ्लू का होना या periods symptoms यह है कि महिलाओं के शरीर में बदलाव होते रहते है जिसकी वजह से उनके हार्मोन्स मे भी बदलाव आता है जिसके कारण लेकिन हर period for girls को Flu हो यह  नही है।

periods Flu delay आता है क्या? और निशानी

नही इस मामले में ऐसा नही होता है पीरियड डेली नही आता है। Periods flu पीरियड्स फ्लू की निशानी यह है कि इसमें जो periods in women होती है उसको पीरियड आने से पहले या बाद मे पेट मे दर्द, मोड़, शरीर और मांशपेशियों मे दर्द होना, बुखार आना,चक्कर आना, कब्ज की परेशानी, थकान, आलस, सर दर्द आदि होता है।

पीरियड्स फ्लू periods Flu का घरेलू उपाय

periods Flu का सही इलाज नही है इसमे कुछ बातों का धयान रखकर इससे राहत पाया जा सकता है। अगर आप हीटिंग पैड का इस्तेमाल करके पेट के निचले हिस्से का दर्द को कम कर सकती है। periods के meaning या माहवारी महिलाओं के लिये खास होती है। आपको पीरियड्स फ्लू के समय शरीर मे पानी की कमी हो सकती है इसलिये इस दौरान खूब पानी पीना चाहिये साथ ही फल सब्जी अनाज जरूर खाना चाहिये। ऐसे समय मे women को ज्यादा से ज्यादा आराम करना और तनाव नही लेना चाहिये। साथ ही अगर कोई ज्यादा दिक्कत आय तो फौरन ही डॉक्टर के पास जाकर इसके बारे में राय लेनी चाहिये

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Exit mobile version