Home देश गोदी मीडिया को किसानों के खिलाफ फेक प्रोपेगेंडा चलाना पड़ा महंगा-किसानों ने...

गोदी मीडिया को किसानों के खिलाफ फेक प्रोपेगेंडा चलाना पड़ा महंगा-किसानों ने जलील कर भगाया

  • गोदी मीडिया को किसानों के खिलाफ फेक प्रोपेगेंडा चलाना पड़ा महंगा-किसानों ने जलील कर भगाया

  • फेक प्रोपेगेंडा चला रहे टीवी चैनलों के रिपोर्टरों को किसानों ने भगाया-वीडियो वायरल

इन दिनों सोशल मीडिया पर लगातार किसानों द्वारा कुछ टीवी चैनलों के पत्रकारों को भगाने का वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। इन वीडियो में साफ तौर पर देखा जा सकता है कि किसान ‘गोदी मीडिया गो बैक’ का नारा लगाते हुए इन टीवी चैनलों के रिपोर्टरों को धरने स्थल से भगा रहे हैं। किसानों के खिलाफ फेक प्रोपेगेंडा चलाने की वजह से नाराज किसानों ने कुछ चैनलों के नाम लेते हुए उनके पत्रकारों को वहां से भगा दिया। किसानों का कहना था कि लगातार आज तक,इंडिया न्यूज़,जी न्यूज और भी कई चैनल फेक न्यूज़ चला रहे हैं और कह रहे हैं कि कृषि कानून का विरोध कर रहे किसानों को बरगलाया जा रहा है जबकि ऐसा नहीं है। जो वीडियो वायरल हो रही है उसमें साफ तौर पर यह सब होते हुए देखा जा सकता है।

यह भी पढ़े:-वायरल: संबित पात्रा की बेटी ने भाग कर रचाई मुस्लिम युवक संग शादी? जानें सच्चाई

दलाल
ऐसा ही एक वीडियो इन दिनों सोशल मीडिया पर लगातार वायरल हो रहा है जिसमें एक टीवी चैनल का पत्रकार खड़े होकर लाइव टेलीकास्ट कर रहा था तभी वहां पर किसानों द्वारा ‘गोदी मीडिया गो बैक’ ‘दलाल मीडिया वापस जाओ’ जैसे नारे लगाने लगे और आरोप लगाया कि वह लोग लगातार किसानों को बदनाम करने की कोशिश कर रहे हैं। जिसकी वजह से कवरेज कर रहे पत्रकार को आखिर वापस जाना पड़ा। यही नहीं दूसरी तस्वीर में जो वीडियो वायरल हो रही है उसमें भी देखा जा सकता है कि लोगों ने आजतक के रिपोर्टर को घेर रखा है और उसे वापस जाने को कह रहे हैं। साथ ही नारे लगा रहे हैं ‘गोदी मीडिया शर्म करो शर्म करो’ ‘मोदी के गोदी मीडिया को दूर करो दूर करो’ जैसे नारे लगाए जा रहे थे। इन सब के बीच एक सवाल खड़ा होता है कि आखिर मीडिया में ऐसी कौन सी कमी रह गई या ऐसी अब कौन सी बात आ गई है कि लोग इन पर विश्वास नहीं कर रहे हैं या फिर कहें कि कुछ चैनलों की वजह से चौथा स्तंभ कहे जाने वाले मीडिया अब दलाल मीडिया के रूप में लोगों के बीच जाने जानी लगी है। किसानों का आरोप था कि कुछ मीडिया के चैनल उनके इस प्रदर्शन को और सरकार के खिलाफ चल रहे धरने को गलत तरीके से लोगों के बीच दिखा रही है। कुछ चैनलों ने कहा कि यह सोची समझी साजिश के तहत किया जा रहा है और कुछ पार्टी के लोग इसमें शामिल हैं। जबकि प्रदर्शन कर रहे प्रदर्शनकारियों ने कहा क्या अब उनको अपने हक की लड़ाई लड़ने के लिए भी गोदी मीडिया के प्रोपगेंडा का शिकार होना पड़ेगा।उनकी सीधी लड़ाई कृषि कानून से है जिसमें वह फेरबदल चाहते हैं और सरकार से बात करना चाहते हैं। आखिर सरकार उनसे क्यों नहीं बात कर रही है मीडिया इन सब बातों को क्यों नहीं दिखा रही और क्यों सिर्फ और सिर्फ प्रदर्शन कर रहे किसानों को ही उनके द्वारा निशाना बनाया जा रहा है।

यह भी पढ़े:-हाथी पर योग करने पर फंसे बाबा रामदेव-अधिवक्ता ने आगरा कोर्ट में दर्ज कराया मुकदमा

आपको बताते चलें कि जहां एक तरफ कृषि कानून को लेकर पंजाब हरियाणा यूपी के साथ-साथ अन्य प्रदेशों के किसान प्रदर्शन में हिस्सा ले रहे हैं। तो वहीं दूसरी तरफ कुछ मीडिया के चैनलों द्वारा लगातार यह खबर सोशल मीडिया और टीवी चैनलों पर चलाई जा रही है कि यह सोची समझी साजिश है इसके पीछे विपक्ष है। जिसको लेकर किसानों में गुस्सा साफ तौर पर दिखाई दे रहा है धरना स्थल और किसानों के बीच जब यही पत्रकार अपने उसी एजेंडे को लेकर रिपोर्टिंग करने पहुंचे तो आखिर में प्रदर्शनकारियों का गुस्सा फूट पड़ा और उन्होंने गोदी मीडिया गो बैक और मोदी मीडिया गो बैक का नारा लगाते हुए कवरेज कर रहे कुछ चैनलों के पत्रकारों को वहां से भगा दिया। लेकिन बरहाल जो भी हो कहीं ना कहीं कुछ लोगों की वजह से सभी लोग बदनाम हो जाते हैं। समय रहते अगर मीडिया के लोगों ने इस बात को नहीं समझा तो वह दिन दूर नहीं जब सभी का सभी मीडिया से एतबार उठ जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

हाथरस : 48 बाइको के साथ अंतर्जनपदीय वाहन चोर गिरोह के चार सदस्य हुऐ गिरफ्तार, 

हाथरस : 48 बाइको के साथ अंतर्जनपदीय वाहन चोर गिरोह के चार सदस्य हुऐ गिरफ्तार, हाथरस: बाइक चोरी का अंतर्जनपदीय गिरोह के चार सदस्यों...

काशी-बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर राम मंदिर के लिए धन संग्रह का कार्य को हुई शुरुआत 

काशी-बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर राम मंदिर के लिए धन संग्रह का कार्य को हुई शुरुआत राम मंदिर निर्माण-चंदे की धर्म नगरी काशी...

हाथरस में आयुर्वेदिक तेल फैक्ट्री पर छापा फैक्ट्री सील-बिना रजिस्ट्रेशन चल रहा था निर्माण

प्रतिष्ठान मालिक को समय सीमा के भीतर वैध दस्तावेज दिखाने के निर्देश दिए गए श्रीनगर में पीपल वाला चौक पर चंद्र प्रकाश के...

किसान आंदोलन-सुप्रीम कोर्ट की कमेटी हमें मंजूर नहीं- कमेटी में सरकार के ही लोग-किसान संगठन

जब तक किसी कानून वापस नहीं होंगे तब तक किसान के घर वापसी नहीं होगी कमेटी मंजूर नहीं सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई...

Recent Comments

%d bloggers like this: