Home उत्तर प्रदेश किसान आंदोलन: सरकार की बातचीत निकली बेनतीजा- 3 दिसंबर को दोबारा बैठक

किसान आंदोलन: सरकार की बातचीत निकली बेनतीजा- 3 दिसंबर को दोबारा बैठक

  • किसान आंदोलन: सरकार की बातचीत निकली बेनतीजा- 3 दिसंबर को दोबारा बैठक

  • किसान और सरकार के बीच 3 घंटे की वार्ता हुई विफल- बातचीत बेनतीजा हुई साबित

कृषि कानून को लेकर जहां एक तरफ कृषि मंत्री ने किसानों से अपना प्रस्ताव देने की बात कही थी और यह भी कहा था कि उनके द्वारा उनकी मांगों के प्रस्ताव पर बैठकर हम चर्चा करेंगे इसी को लेकर आज विज्ञान भवन में 35 किसान नेताओं द्वारा तीन केंद्रीय मंत्री जिनमें कृषि मंत्री नरेंद्र तोमर के साथ पीयूष गोयल और सोम प्रकाश ने बैठक की, इस बैठक में पंजाब से क्रांतिकारी किसान यूनियन और किसान संघर्ष कमेटी के साथ आजद  किसान संघर्ष कमेटी भारतीय किसान संघ के नेता शामिल हुए। जहा पर सरकार के बीच बातचीत से कोई बात नही बनी यह बैठक 3 घण्टे चली जो बेनतीजा साबित हुई कहा जा रहा है कि फिर से 3 दिसम्बर को किसानों के साथ बैठक होगी। वही कृषि मंत्रालय ने किसानों से कृषि कानून में सुधरों के मुद्दों की जानकारी मांगी है।

यह भी पढ़े:-किसान आंदोलन पर जताई ‘कनाडा के पीएम जस्टिन’ ने चिंता-भारत सरकार ने कहा गैर जरूरी बयान

कृषि
प्रदर्शन कर रहे हैं किसानों का भी यही कहना था कि अगर सरकार उनकी तीन मांगों को मान लेती है तो वह अपना प्रदर्शन खत्म कर सकते हैं। कृषि कानून में तीन चीजों को लेकर किसान सरकार के खिलाफ लामबंद है। जिसके मद्देनजर पंजाब हरियाणा सहित उत्तर प्रदेश और भी कई राज्यों से किसानों का लगातार दिल्ली आने का सिलसिला जारी है। किसानों को डर था कि इस कानून से बड़े व्यापारियों को फायदा मिलेगा और छोटे किसान का नुकसान होगा छोटी मंडियों को खत्म कर कर बड़ी मंडियों को बढ़ावा देने से भ्रष्टाचार और बड़े व्यापारियों का बोलबाला भी रहेगा इसी के साथ एमएसपी की प्रक्रिया बरकरार रखने को लेकर लिखित आश्वासन भी सरकार से किसान की मांग है।

यह भी पढ़े:-किसान आंदोलन में किसान की मौत-हमें उजाड़ कर प्रधानमंत्री वाराणसी में देव दिवाली मना रहे

जबकि एमएसपी पर सरकार का कहना था कि किसानों को भरमाया जा रहा है जबकि इससे किसानों का ही फायदा है। आज की बैठक मे कोई बात नही बनी तो वही किसानों ने इस बैठक को बेनतीजा बताया है। जबकि कृषि मंत्री ने वार्ता को अच्छी बताया है और कहा है कि परसो फिर यह लोग कानून से जुड़े मुद्दों को लेकर आयगे और फिर बात होगी। लेकिन अगर कहा जाय तो सरकार और प्रदर्शनकारियों मे गतिरोध जारी है। बैठक में सरकार ने एक कमेटी बनाने को भी कहा था जिसमें किसान के 5 सदस्य टीम की बात कही गई और जिसके जरिए जल्द से जल्द इस मामला को सुलझाने को कहा गया। लेकिन किसान इस पर राजी नहीं हुए अगर कहा जाए कि जो भी बैठक में बातचीत हुई है उसमें कोई भी नतीजा नहीं निकला है। बैठक में शामिल किसानों का कहना था कि सरकार चाहती है कि हम 5 किसान पूरे किसानों की समस्याओं पर बात करें तो यह मुमकिन नहीं है।

यह भी पढ़े:-महज दो इंच है Penis का साइज, कैसे बढ़ाये छोटे पेनिस का साइज?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

हाथरस : 48 बाइको के साथ अंतर्जनपदीय वाहन चोर गिरोह के चार सदस्य हुऐ गिरफ्तार, 

हाथरस : 48 बाइको के साथ अंतर्जनपदीय वाहन चोर गिरोह के चार सदस्य हुऐ गिरफ्तार, हाथरस: बाइक चोरी का अंतर्जनपदीय गिरोह के चार सदस्यों...

काशी-बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर राम मंदिर के लिए धन संग्रह का कार्य को हुई शुरुआत 

काशी-बाबा विश्वनाथ के दर्शन कर राम मंदिर के लिए धन संग्रह का कार्य को हुई शुरुआत राम मंदिर निर्माण-चंदे की धर्म नगरी काशी...

हाथरस में आयुर्वेदिक तेल फैक्ट्री पर छापा फैक्ट्री सील-बिना रजिस्ट्रेशन चल रहा था निर्माण

प्रतिष्ठान मालिक को समय सीमा के भीतर वैध दस्तावेज दिखाने के निर्देश दिए गए श्रीनगर में पीपल वाला चौक पर चंद्र प्रकाश के...

किसान आंदोलन-सुप्रीम कोर्ट की कमेटी हमें मंजूर नहीं- कमेटी में सरकार के ही लोग-किसान संगठन

जब तक किसी कानून वापस नहीं होंगे तब तक किसान के घर वापसी नहीं होगी कमेटी मंजूर नहीं सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई...

Recent Comments

%d bloggers like this: