स्वास्थ्य
  • स्वास्थ्य मंत्री ने रानी लक्ष्मीबाई हॉस्पिटल में नवनिर्मित कार्डियक केयर यूनिट का किया लोकार्पण

  • नवनिर्मित कार्डियक केयर यूनिट का स्वास्थ्य मंत्री ने किया लोकार्पण-रानी लक्ष्मी बाई हॉस्पिटल

राजधानी लखनऊ में नए साल के उपलक्ष में स्वास्थ्य विभाग ने मरीजों की परेशानियों को देखते हुए रानी लक्ष्मीबाई संयुक्त चिकित्सालय राजाजीपुरम लखनऊ में कार्डियक केयर यूनिट का उद्घाटन किया है। बताया जा रहा है कि राजधानी लखनऊ के रानी लक्ष्मीबाई संयुक्त चिकित्सालय में हार्ट के मरीजों को देखते हुए आज स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह द्वारा कार्डियक केयर यूनिट का उद्घाटन किया गया है। साथ ही यूनिट के निर्माण के लिए 1500000 और उपकरणों के लिए 135 लाख के बजट धनराशि की स्वीकृति प्रदान की गई थी। जिसमें बताया गया है कि अब तक निर्माण में 15 लाख की धनराशि व्यय की है सीसीयू उपकरणों की खरीद में ₹82 लाख लगाए गए हैं।लगातार मरीजों को सुविधा देने के लिए स्वास्थ विभाग अग्रसर दिखाई दे रहा है जिसके मद्देनजर आज स्वास्थ्य मंत्री के साथ विधायक सुरेश श्रीवास्तव ने सीसीयू का उद्घाटन किया है इस मौके पर लखनऊ के CMO के साथ ACMO भी मौजूद रहे।

अब तो बाहों के दरमियाँ. सवाल पूछे जा रहे हैं.पत्रकारिता अपने चरम पर है.. जियो

हार्ट
राजाजीपुरम स्थित रानी लक्ष्मीबाई संयुक्त चिकित्सालय में चार बेड़ो का सीसीयू बनाया गया है। अभी तक मरीजों को इलाज कराने के लिए ट्रामा और पीजीआई के साथ लोहिया जाना पड़ता था। वही राजाजीपुरम में सीसीयू बनने के बाद काफी मरीजों को राहत मिलते हुए दिखाई दे रही है चार बेड़ो युक्त विशिष्ट चिकित्सा इकाई जिसमें इमरजेंसी एवं ओपीडी सेवाएं प्रदान की जाएंगी एवं जिसमें कम्प्यूटराइज्ड ईसीजी मशीन कार्डियक मॉनिटर जैसे हाईटेक सुविधाएं दी गई है। लखनऊ के जनमानस को हृदय रोग से संबंधित उच्च गुण वक्ताओं की स्वास्थ्य सेवाओं को प्रदान करने के लिए इस यूनिट का उद्घाटन किया गया है।

यूपी में दो वर्षीय बच्ची के मिला नया कोरोना स्ट्रेन-UK से लौटा था परिवार-Corona Update

रानी
आपको बताते चलें कि जहां एक तरफ पूरे देश में कोविड-19 का खतरा लगातार बढ़ता जा रहा है तो वहीं दूसरी तरफ स्वास्थ विभाग के तरफ से मरीजों को राहत देने के लिए रानी लक्ष्मीबाई में कार्डियक केयर यूनिट का निर्माण किया गया है। इस मौके पर मौजूद रहे स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि जनमानस की समस्याओं को देखते हुए इस यूनिट का निर्माण किया गया साथ ही आगे भी इसी तरीके से कई और राजधानी के हॉस्पिटलों में निर्माण किया जाएगा।जिससे जनमानस को बेहतर इलाज मिल पाए इसके साथ ही सीसीयू में स्ट्रोक पेशेंट के लिए टीपीए सहित सभी आवश्यक औषधियां उपलब्ध रहेंगे। डायग्नोस्टिक सेवा हेतु जिला चिकित्सालय राज पॉलिसी के अनुसार अन स्रोतों से सहयोग लिया जाएगा। साथ ही कहा गया है की आवश्यक औषधि हेतु बजट की पर्याप्त व्यवस्था की गई है।

SBI समेत तीन बैंकों ने अनिल अंबानी की 3 कंपनियों को किया फ्रॉड घोषित-2021 नए साल में हुए कंगाल

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *