ममता बैनर्जी
  • ममता के मंच पर पहुंचते ही ‘जय श्री राम’ के लगे नारे, बोली यह सभी का है प्रोग्राम-पीएम रहे मौजूद

  • मंच पर पहुंचते ही ममता बनर्जी के लगे ‘जय श्रीराम’ के नारे- बोली बुलाकर बेज्जती करना ठीक नही

कोलकाता में जहां एक तरफ आज नेता सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर पराक्रम दिवस के रूप में केंद्र सरकार बना रही थी और इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस कार्यक्रम मे मौजूद थे। तो वहीं इस प्रोग्राम में बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी भी मौजूद थी। विक्टोरिया मेमोरियल में प्रधानमंत्री ने जहां एक तरफ इस सरकारी कार्यक्रम में नेता सुभाष चंद्र बोस को याद किया तो वहीं दूसरी तरफ इस दौरान ममता बनर्जी के मंच पर पहुंचने पर कई लोगों ने जय श्रीराम के नारे भी लगाए।

कृषि कानून वापस लो-दूल्हा दुल्हन ने किया ऐसा-शादी से ज्यादा फिक्र किसानों की- देखे वीडियो

कोलकाता
विक्टोरिया मेमोरियल में नेता सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती के अवसर पर केंद्र सरकार ने जहां इसको सरकारी कार्यक्रम यानी कि पराक्रम दिवस के रूप में मनाया तो इसी दौरान मंच पर जब ममता बनर्जी की बोलने की बारी आई तो इसी दौरान नीचे खड़े हुए लोगों ने उनके मच पर पहुंचने पर ‘जय श्री राम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारेबाजी शुरू कर दी।
ममता
जिस समय मुख्यमंत्री ममता बनर्जी मंच पर पहुंची और जय श्रीराम के नारे लगाए गए उस समय मंच पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी मौजूद थे। मंच पर पहुंचकर ममता बनर्जी ने ‘जय श्रीराम’ के नारे पर अपनी नाराजगी और एतराज जताते हुए कहा कि मुझको लगता है कि गवर्नमेंट प्रोग्राम का कोई डिग्निटी होना चाहिए यह गवर्नमेंट का प्रोग्राम है कोई पॉलिटिकल प्रोग्राम नहीं है। यह सभी पॉलीटिकल पार्टी और पब्लिक का प्रोग्राम है। मैं तो आभारी हूं प्रधानमंत्री और कल्चर मिनिस्ट्री का कि आप लोगों ने कोलकाता में प्रोग्राम किया। लेकिन किसी को आमंत्रित करके उसकी बेइज्जती करना आपको शोभा नहीं देता है।

गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में विधानसभा के चुनाव कुछ महीने में होने हैं और उससे पहले जब बीजेपी की सरकार ने नेता सुभाष चंद्र बोस की जयंती को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया तो ममता बनर्जी ने इसे साफ तौर पर चुनावी रणनीति करार दिया। जिस बात को लेकर वह पहले भी अपनी नाराजगी जाहिर कर चुकी हैं। लेकिन आज जब वह मंच पर पहुंची तो कुछ लोगों द्वारा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने ही ‘जय श्री राम’ और ‘भारत माता की जय’ के नारे लगने लगे जिससे ममता बनर्जी नाराज हो गई।
सुभाषममता बनर्जी माइक पर बोलते हुए सिर्फ इतना कहा कि यह कोई पॉलिटिकल प्रोग्राम नहीं है। यह सभी का प्रोग्राम है और ऐसे समय में ‘जय श्री राम’ जैसे नारे लगाना सही नहीं है और उनको बुलाकर उनकी बेइज्जती करना वहां किसी प्रकार से सही नहीं ठहराया जा सकता है। इतना बोल कर ममता बनर्जी ने मंच को छोड़ दिया और अपनी नाराजगी साफ तौर पर जाहिर की फिलहाल ममता बनर्जी का यह कहना बिल्कुल सही था कि आज के दिन नेता सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती मनाई जा रही थी और इस दौरान किसी प्रकार की भी राजनीति करना सही नहीं ठहराई जा सकती है। हालांकि इस दौरान मोदी और उनमे काफी दूरी भी देखने को मिली।

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *