नशे
  • यूपी:पुलिस ने पकड़ी प्रतिबंधित कफ सिरप की खेप,पूर्वोत्तर भारत में नशे के रूप मे होती इस्तेमाल

  • यूपी: 17 हजार प्रतिबंधित कफ सिरप की शीशियों की खेप पुलिस ने पकड़ी-नशे में होती इस्तेमाल

खबर चंदौली से है ……. यहां सदर कोतवाली पुलिस और स्वाट टीम ने अवैध तरीके से तस्करी कर पूर्वोत्तर राज्य में भेजे जाने वाली प्रतिबंधित कफ सिरप की 17135 सीसी एक डीसीएम ट्रक से बरामद की है । वही ट्रक से एक आरोपी गिरफ्तार किया गया है। प्रतिबंधित कफ सिरफ ट्रक में 612 छोटे-बड़े क्रोकरी के कार्टून के बीच में छिपाकर ले जाए जा रहा था। एसपी के अनुसार बरामद प्रतिबंधित कफ सिरप की कीमत ₹50 लाख है और पूर्वोत्तर राज्य में यह जाकर 3 गुने दाम पर बेची जाती। इस प्रतिबंधित कफ सिरप का इस्तेमाल नशे के सेवन के रूप में किया जाना था। पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और आरोपी की निशानदेही पर जो भी सुराग मिले हैं सरगना तक पहुंचने में पुलिस जुट गई है।

अलीगढ़: कन्यादान में दी गई सड़क नहीं बनने से, गांव से नहीं शहर से विदा होगी दुल्हन।

कफ
सदर कोतवाली पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि प्रतिबंधित दवा की खेप DCM ट्रक में छुपाकर पूर्वोत्तर के राज्यो में  चंदौली के रास्ता ले जाई जा रही है। इस क्रम में सदर कोतवाली पुलिस और स्वाट टीम ने जगदीश सराय गांव के समीप नेशनल हाईवे 2 पर रिलायंस पेट्रोल पंप के पास घेराबंदी किया और एक डीसीएम ट्रक को रोका जिसका नंबर RJ14 GJ 1192 था। इस ट्रक में क्रॉकरी कार्टून के बीच प्रतिबंधित फेसाडील और स्कफ़ सिरप छुपा कर रखी हुई थी। टीम ने DCM ट्रक चला रहे एक व्यक्ति को पकड़ा और ट्रक को सदर कोतवाली ले आई ।

ABP न्यूज़ के रिपोर्टर ने किसान मंच से दिया इस्तीफा- सच नहीं दिखाए जाने के कारण उठाया कदम-वीडियो वायरल

ट्रक में रखी क्रोकरी के पैकेट हटाकर जब प्लास्टिक के बोरे में भरे प्रतिबंधित कफ सिरप की पेटियों को निकाला गया तो पुलिस के भी होश उड़ गए कुल 106 पेटी में लगभग 17 हजार कफ सिरप की शीशियां बरामद हुई। पुलिस अधीक्षक अमित कुमार के बताया की ये प्रतिबंधित शेड्यूल H श्रेणी का कफ सिरप है जो नारकोटिक्स की श्रेणी में आता है और इसका इस्तेमाल नशे के सेवन के रूप में किया जाता है । प्रतिबंधित कफ सिरप की ये खेप पूर्वोत्तर भारत में सप्लाई के लिए ले जाई जा रही थी।

मुरादाबाद: भाजपा नेता के दुकान पर पोस्टर चस्पा-लिखा बीजेपी के गुंडा नेता से बचायें-इच्छा मृत्यु की मांग

कफ
टीम ने डीसीएम ट्रक से एक आरोपी को पकड़ा है। जिसका नाम नरेश कुमार है और आरोपी थाना नदवाई, जिला भरतपुर, राजस्थान का रहने वाला है। पुलिस अधीक्षक अमित कुमार के अनुसार बरामद प्रतिबंधित कफ सिरप की कीमत ₹50 लाख है जो पूर्वोत्तर भारत में जाकर 3 गुने दाम पर बेची जाएगी और लोग इसका इस्तेमाल नशे के रूप में करते हैं।

शाहजहांपुर-पति रोज़ करता था सेक्स इसलिए पी लिया सेनीटाइज़र-पत्नी हॉस्पिटल में एडमिट

एसपी ने बताया पूछताछ में और भी जानकारियां मिली है। जल्दी ही इस गिरोह का पर्दाफाश कर लिया जाएगा, गिरोह के ऊपर एनडीपीएस गैंगस्टर और गुंडा एक्ट के तहत भी कार्रवाई की जाएगी। एसपी के अनुसार कोडीन नाम का केमिकल इस कफ़ सिरप में पाया जाता है और अधिक मात्रा लेने पर नशा होता है और इसको पूर्वोत्तर भारत में के राज्यों में तिगुने दाम पर बेचा जाता है। DCM ट्रक पर 603 पेटी क्रॉकरी के बीच कफ सिरफ की इस खेप को छुपाया गया था ।

“मैं विकास दुबे कानपुर वाला” नाम का गाना सोशल मीडिया पर वायरल-पुलिस ने दर्ज की F.I.R

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *