विकास दुबे
  • बिकरु कांड: विकास दुबे का सहयोग करने वाले सात आरोपी गिरफ्तार-हथियारों का जखीरा बरामद

  • बिकरुकांड: विकास दुबे के सात सहयोगी गिरफ्तार-भारी मात्रा मे आधुनिक हथियार बरामद

बिकरु कांड को लेकर हुई  प्रेस कॉन्फ्रेंस में कई बड़े खुलासे हुए हैं। विकास दुबे के सहयोगियों के पास से 1 सेमी ऑटोमेटिक अमेरिकन राइफल,9mm की अवैध कार्बाइन,एक अवैध रिवाल्वर,एक एसबीबीएल बंदूक 12 बोर के साथ ही कई अवैध असलहे और आधुनिक राइफल के कारतूस बरामद हुए हैं।एसटीएफ ने बिकरु कांड से जुड़े और विकास दुबे का सहयोग करने वाले सात साथी को गिरफ्तार भी किया है। वहीं विकास दुबे, प्रभात मिश्रा और अमर दुबे के व्यक्तिगत मोबाइल फोन भी बरामद हुए हैं जिससे और भी कई बड़े खुलासे हो सकते हैं।

यूपी:पुलिस ने पकड़ी प्रतिबंधित कफ सिरप की खेप,  पूर्वोत्तर भारत में नशे के रूप मे होती इस्तेमाल

सहयोगी
कानपुर पहुंचे एडीजी एसटीएफ अमिताभ यश ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बिकरु कांड पर बड़े खुलासे किए। उन्होंने साफ कहा कि अभी तक जो भी बयान विकास दुबे ,प्रभात मिश्रा और अमर दुबे ने पुलिस को दिए थे वे सभी असत्य थे। एसटीएफ की विवेचना में सभी दावे असत्य पाए गए। उन्होंने यह साफ कहा कि यह तीनों शातिर अपराधी थे और लगातार शुरुआत से ही पुलिस को भी गुमराह कर रहे थे। वही इस कांड में उनका सहयोग करने वाले सात और आरोपी गिरफ्तार हुए।

लखनऊ: जुगल किशोर सर्राफा के वहां चोरी का खुलासा-करोड़ों का सोना चांदी जेवरात बरामद- तीन गिरफ्तार

वही आपको बताते चलें कि कानपुर से चौबेपुर के बिकरु गांव में 2020 कि 2 जुलाई के रात में पुलिस विकास दुबे के वहां दबिश देने गई थी। जहां पर उसके गुर्गों ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया और इस हमले में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या कर दी गई थी। हत्या के बाद विकास दुबे फरार हो गया और अपने साथियों के पास जाकर छुप गया था। 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के बाद लगातार पुलिस विकास दुबे की सरगर्मी से तलाश करती रही लेकिन नाटकीय ढंग से 8 जुलाई को विकास दुबे ने मध्य प्रदेश पुलिस के आगे महाकाल मंदिर में समर्पण कर दिया। जिसके बाद मध्य प्रदेश पुलिस ने उसको यूपी पुलिस के सुपुर्द किया था लेकिन मध्य प्रदेश से कानपुर लाते समय पुलिस की गाड़ी पलट गई और विकास ने मौका देखकर भागने का प्रयास किया जिसको देखते हुए पुलिस ने उसको एनकाउंटर में मार गिराया था। वहीं दूसरी तरफ विकास का साथ देने वाले 7 अपराधियों को हथियारों के जखीरे के साथ एसटीएफ ने एक बार फिर धर दबोचा है।

ABP न्यूज़ के रिपोर्टर ने किसान मंच से दिया इस्तीफा- सच नहीं दिखाए जाने के कारण उठाया कदम-वीडियो वायरल

बिकरु कांड
बिकरु कांड के अपराधी विकास दुबे के इन साथियों के पास से कई आधुनिक अवैध असलहे बरामद हुए हैं। जो कहीं ना कहीं दुर्दांत विकास दुबे की कार्यशैली को दर्शाते कि वह कितना बड़ा माफिया था। एसटीएफ ने इन सहयोगियों के पास से अमेरिकन राइफल के साथ ही साथ एक 9mm की अवैध कार्बाइन भी बरामद की है। वहीं कई आधुनिक अवैध असलहों के कारतूस भी बरामद हुए हैं। एसटीएफ की जांच में यह भी खुलासा हुआ है कि कई अवैध आधुनिक असलहों को मध्यप्रदेश के भिंड में बेच दिया गया है।

मुरादाबाद: भाजपा नेता के दुकान पर पोस्टर चस्पा-लिखा बीजेपी के गुंडा नेता से बचायें-इच्छा मृत्यु की मांग

वही बताया जा रहा है ऐसे असलहे रखने वाले भी अब एसटीएफ की रडार पर आ चुके हैं और जल्दी ही अवैध असलहों के साथ  वह भी गिरफ्तार किये जाएंगे। एसटीएफ को दुर्दांत विकास दुबे उसके साथी प्रभात मिश्रा व अमर दुबे के व्यक्तिगत फोन भी बरामद हो गए। एडीजी ने साफ कहा है कि फॉरेंसिक लैब की जांच होने के बाद व्यक्तिगत फोन खोले जाएंगे तो कई और लोगों के राज फास हो सकते हैं। वही बचे हुए अपराधी पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए किसी ना किसी नेता की शरण में जरूर जाता है। ऐसा में  कहा जा सकता है कि विकास दुबे को भी राजनीतिक संरक्षण जरूर प्राप्त था और अब उसके राजनीतिक गुरु के नामों का भी खुलासा जल्द ही हो सकता है।

शाहजहांपुर-पति रोज़ करता था सेक्स इसलिए पी लिया सेनीटाइज़र-पत्नी हॉस्पिटल में एडमिट

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *