सांसद बेटे
  • लखनऊ-बीजेपी सांसद के बेटे को मारी गई गोली-साला गिरफ्तार-खुद रची थी साजिश

  • लखनऊ:बीजेपी सांसद के बेटे को मारी गोली-निर्दोष को फसाने के लिये खुद रची साजिश-साला गिरफ्तार

लखनऊ: राजधानी के मड़ियांव थाना क्षेत्र स्थित छठा मील तिराहे पर देर रात मोहनलालगंज से बीजेपी सांसद कौशल किशोर के बेटे आयुष को बदमाशों द्वारा गोली मारने की वारदात से जहां एक तरफ पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया तो वहीं फौरन पुलिस ने घायल बीजेपी सांसद के बेटे को ट्रामा सेंटर में एडमिट कराया। गोली कांड के बाद से पुलिस ने जब इस पूरे मामले की गहनता से छानबीन की तो इस घटना का पुलिस ने चंद घण्टो में खुलासा करते घायल आयुष के साले को गिरफ्तार करते हुए हुए राहत की सांस ली है।
बीजेपी सांसद
वहीं बीजेपी सांसद के बेटे आयुष के साले ने पूरी वारदात को खुद अंजाम देने की बात कबूल कि है।जिसमें उसने बताया है कि इस वारदात को अंजाम देने के लिए खुद आयुष ने उससे कहा था ताकि इस गोलीकांड में वह लोग कुछ लोगों को फसा सके। मिली जानकारी के मुताबिक, मड़ियांव इलाके के छठा मील के पास रैठा रोड पर पूरी घटना का प्लान बनाया गया था। सांसद बेटे द्वारा अपने ही साले से अपने ऊपर गोली चलाने के बाद जब मौके पर पुलिस पहुंची तो पुलिस को बयान दिया गया कि कुछ अज्ञात लोगों ने  आयुष को गोली मार दी और मारकर वह फरार हो गए।
लेकिन पुलिस ने इस मामले की गंभीरता को भांपते हुए बीजेपी सांसद के बेटे आयुष के साले से पूछताछ की तो उसने अपना गुनाह कुबूल कर लिया। लेकिन जो बात सामने आई उसने सभी को चौंका दिया कि संसद के बेटे ने कुछ लोगों को फंसाने के लिए खुद पर अपने साले से गोली चलवाई थी। लेकिन पहले पुलिस को बताया गया था कि आयुष और उसका साला रात में बाहर टहल लाए थे तभी कुछ अज्ञात लोग आए और उनको दौड़ाया और जब आयुष गिर पड़ा तो उसके ऊपर बदमाशों ने फायर कर दिया जिससे गोली उसको जाकर लगी आनन-फानन में आयुष को ट्रामा सेंटर में भर्ती भी करा दिया गया।
बीजेपी
एक तरफ बीजेपी सांसद कौशल किशोर के बेटे को गोली मारने से पुलिस के हाथ पांव फूल गए तो वहीं जब पुलिस ने इस मामले का खुलासा किया तो सभी हैरान भी हो गए। बताया गया कुछ निर्दोष लोगों को फंसाने के लिए बीजेपी सांसद के बेटे ने अपने ही साले से  अपने को गोली मरवाई थी। वहीं पुलिस ने जब साले से पूछताछ की तो उसने बताया कि वह लोग चंदन गुप्ता, मनी जायसवाल और प्रदीप कुमार सिंह को फसाने के लिये इस साजिश को रचते हुए इस घटना को अंजाम दिया था। ताकि जब पुलिस आए तो पुलिस को इन लोगों के नाम बता कर इन को फंसाया जा सके। लेकिन वारदात के चंद घंटों के बाद पुलिस ने इस घटना का खुलासा करते हुए साजिश को नाकाम कर दिया।
पुलिस सूत्रों की मानें तो सांसद कौशल किशोर के भाई नंद किशोर प्रॉपर्टी का काम करते हैं। उनके भतीजे आयुष ने खुद पर अपने साले के द्वारा गोली चलवाकर तीन निर्दोषों को फसाने की तैयारी थी। लेकिन पुलिस की जांच-पड़ताल में निर्दोषों को बचाते हुए घटना का चौकाने वाला खुलासा किया है। मड़ियांव कोतवाल का कहना है कि आयुष के साले आदर्श सिंह से पूछताछ के बाद घटना में इस्तेमाल किया हुआ असलहा भी बरामद कर लिया गया है। उन्होंने बताया असलहा लाइसेंसी बताया जा रहा है। लेकिन इसका लाइसेंस किसके नाम पर है इसकी भी जांच की जा रही है।

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *