शव नदियों
  • बुन्देखण्ड: गरीबी और महंगाई बनी कारण, बड़ी तादाद में हो रहा नदियों में शव प्रवाहित

  • बुन्देखण्ड: नदियों में शव प्रवाहित की वजह बनी,गरीबी और महंगाई, पर्याप्त मात्रा में मौजूद लकड़ी

बुन्देखण्ड इलाके में कोरोनॉ और कोरोनॉ जैसे लक्षणों से बड़ी तादाद में लोगो की मौते हो रही है । शमसान घाटों में शव जलाने की जगह नही बची है । लोगो को घण्टो इंतजार करना पड़ता है । गरीबी और महंगाई के चलते लोग अपने परिजनों का अंतिम संस्कार शव दाह करने के बजाये नदियों प्रवाह कर के कर रहे है । जब कि समशान घाटों में लकड़ी पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है ।

दिल्ली: ट्विटर पर राष्ट्रपति ने उर्दू में मुस्लिम समाज को ईद की दी बधाई

शमशान घाट

इस कोरोनॉ काल मे जब अपने भी शवो को कंधा देने को तैयार नही है तब लोग शवो को अंतिम संस्कार के लिये चार पहिया के ठेले , ऑटो, लोडर में लाद कर शव को अंतिम संस्कार के लिये ले जाते देखे जा रहे है । कोरोनॉ ने शव यात्रा की परंपरा को भी खत्म कर दिया है ऐसे में बिना परिजनों, परिवार जनों, रिश्तेदारों और मुहल्ला वासियों की गौर मौजूदगी में शव के साथ सिर्फ दो चार लोग ही जाते देखे जा रहे है इसे में महंगी लकड़ी और शव दाह की सामग्री की ऊंची दरों के चलते लोग शवो का शव दाह ना कर यमुना और बेतवा नदियों में शवो को प्रवाहित कर दे रहे है ।

गोरखपुर: तुर्कमानपुर में दरोगा ने मस्जिद में घुसकर इमाम को पीटा, कई थानों की फोर्स पहुची मौके पर

यमुना नदी के तट पर बना यह है हमीरपुर का सब से बड़ा शमसान घाट ,,, इस घाट में पहले जहां दो , चार शव आते थे पर अब यहां हर दी दर्जनों शव आ रहे है । इस शमसान घाट में जगह नही बची है तो लोग शमसान के आसपास की जगह पर शव दाह करने को मजबूर है । इस शमसान के आस पास बड़ी तादाद में जल हुये शव , शवो के अवशेष और कफ़न आदि सामग्री बड़ी तादाद में बिखरी पड़ी है जिससे आस पास के रहने वाले लोग काफी परेशान है।

यूपी: पुलिस अधिकारियों को 5G नेटवर्क की टेस्टिंग को लेकर निर्देश, अफवाह पर करे कार्यवाही

हमीरपुर जिला मुख्यालय के दोनों तरफ सिर्फ एक किलोमीटर के दायरे में यमुना और बेतवा दो नदियाँ बहती है और इन दोनों नदियों के किनारे बसे गावो के रहने वाले गरीब लोग शवो के अंतिम संस्कार के लिये यमुना और बेतवा नदियों को ज्यादा अच्छा मानते है । गरीब ग्रामीण 400 रुपये कुंतल लकड़ी और बाकी सामग्री खरीद कर शव दाह करने से बचते है ।

Israel-Palestine: फलस्तीन पर हमले को लेकर मुस्लिम देश आये सामने, अंतरराष्ट्रीय समुदाय से मांगा समर्थन

हमीरपुर में यमुना नदी के किनारे बने शमसान घाट में लकड़ी बेचने वाले दुकानदार अजय कुमार ने बताया कि उसके पास पर्याप्त मात्रा में लकड़ी मौजूद है । इस वक्त शव ज्यादा आ रहे है इस लिये उसने बड़ी तादाद में लकड़ी जमा कर रखी है ।

घर बैठे 11 फ्री आइडिये पैसे कमाने के, ऑनलाइन लाखो पैसे कमाने के तरीके

शव

हमीरपुर जिले में यमुना नदी के तट पर बने शमसान घाट के भीतर और बाहर बड़ी तादाद में शवो को जलाये जाने और अधजले शवो के पड़े होने से परेशान हो कर जिले के राजेंद्र वीर सिंह प्रसिद्ध पर्यावरण ने इस शमसान घाट का वीडियो बना कर शोसल मीडिया में वायरल किया था ( देखे वीडियो ) जिसके बाद हरकत में आये प्रशासन ने शमसान घाट और आसपास के इलाके की धुलाई और सफाई करवा कर अध जले शवो और शवों के अवशेषों को हटवाने का काम शुरू कर दिया है ।

जौनपुर:6 लोगो की जहरीली शराब से हुई मौत की खबर वायरल, पुलिस ने कहा फर्जी,पति पत्नी की मौत

हमीरपुर जिले के शमसान घाटो में पर्याप्त मात्रा में लकड़ी मौजूद है और उसके रेट भी नही बढ़े है इसके बावजूद गरीब लोग लाशों का शव दाह ना करके बड़ी तादाद में शवो को नदियों में प्रवाहित कर रहे है । यही कारण है कि पिछले दिनों हमीरपुर की यमुना नदी में एक साथ दर्जनों लाशें तैरती मिलने से प्रदेश में हड़कम्प मच गया था उसके बाद हरकत में आये पुलिस और प्रशासन की सख्ती के बाद अब लोगो ने शवो के साथ भारी पत्थर बांध कर शवो को नदियों में प्रवाहित करना शुरू कर दिया है जिससे लाशें पानी मे नीचे बैठ जाये और तैरती हुई ना दिखाई दे ।

Israel-Palestine संघर्ष: हमास ने इजरायल पर दागे राकेट, केरल की महिला की मौत,इजरायली ने किया हवाई हमला

By shiraj

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *